Saturday, Jun 06, 2020

Live Updates: Unlock- Day 6

Last Updated: Sat Jun 06 2020 07:55 PM

corona virus

Total Cases

246,544

Recovered

118,684

Deaths

6,936

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA80,229
  • TAMIL NADU28,694
  • NEW DELHI26,334
  • GUJARAT19,119
  • RAJASTHAN10,084
  • UTTAR PRADESH9,733
  • MADHYA PRADESH8,996
  • WEST BENGAL7,303
  • KARNATAKA4,835
  • BIHAR4,598
  • ANDHRA PRADESH4,112
  • HARYANA3,281
  • TELANGANA3,147
  • JAMMU & KASHMIR3,142
  • ODISHA2,608
  • PUNJAB2,415
  • ASSAM2,116
  • KERALA1,589
  • UTTARAKHAND1,153
  • JHARKHAND889
  • CHHATTISGARH773
  • TRIPURA646
  • HIMACHAL PRADESH383
  • CHANDIGARH304
  • GOA166
  • MANIPUR124
  • NAGALAND94
  • PUDUCHERRY90
  • ARUNACHAL PRADESH42
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM22
  • DADRA AND NAGAR HAVELI14
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
in up laborers will get 15 days ration and allowance of 1000 rupees-prsgnt

यूपी में श्रमिको को मिलेगा 15 दिन का राशन और 1000 रुपये का भत्ता

  • Updated on 5/22/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश के विभिन्न भागों से उत्तर प्रदेश लौटे 18 लाख प्रवासी मजदूरों को राज्य सरकार 15 दिन का राशन और 1000 रुपये बतौर भरण-पोषण राशि मुहैया करवाएगी। इस बीच, राज्य सरकार ने मास्क के बिना बाहर निकलने वालों पर सख्त रुख अख्तियार किया है और गत 2-3 दिनों में 5 हजार लोगों से जुर्माना वसूला है। यह राशि प्रत्येक व्यक्ति 100 रुपये है। राज्य सरकार करीब एक हफ्ते पहले ही सार्वजनिक स्थल पर मास्क को अनिवार्य कर चुकी है।

कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश की सरकार सरकारी मशीनरी को व्यवस्थित करने में लगी हुई है। व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए योगी सरकार ने अब राज्य में एस्मा कानून लागू कर दिया है।

कड़ाई से होगा पालन
इस कानून के अंतर्गत अब राज्य का कोई भी कर्मचारी न तो छुट्टी ले सकेगा और न ही हड़ताल पर जा सकेगा। यानी अब सरकार के अति आवश्यक कर्मचारियों को सरकार के निर्देशों का पालन करना ही होगा और जो इन नियमों को नहीं मानेगा तो उसके खिलाफ सरकार सख्त कार्यवाई भी करेगी।

बस किराए पर UP सरकार के साथ बवाल, राजस्थान के उपमुख्यमंत्री ने कही ये बात

क्या है एस्मा
भारतीय संसद द्वारा पारित अधिनियम एस्मा 1968 में लागू किया गया था। यह कानून मुश्किलों ए बीच कर्मचारीयों की हडताल रोकने के लिए बनाया गया था। इस नियम को लागू करने से पहले, इससे प्रभावित होने वाले कर्मचारियों को पत्र आदि सूचना देकर इस नियम लागू होने के बारे में बताया जाता है।

छात्रों के बस भाड़े का बिल भरा योगी सरकार, गहलोत सरकार को किया 19 लाख रुपये भुगतान

हो सकती है जेल
इस काननू के होने के बाद कोई भी सरकारी कर्मचारी छुट्टी नहीं ले सकता यदि लेता है या हड़ताल पर जाता है तो वो कानून अवैध होगा और इसके एवज में कर्मचारी को गिरफ्तार भी किया जा सकता है। साथ ही कानून का उल्लंघन करने पर किसी भी कर्चमारी को बिना वारेंट के अरेस्ट भी किया जा सकता है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.