Monday, May 23, 2022
-->
increase in prices of onion tomato and other vegetables in delhi ncr sohsnt

दिल्ली-एनसीआर में प्याज, टमाटर समेत अन्य सब्जियों के दाम में भारी बढ़ोतरी, जानें क्या है कारण

  • Updated on 12/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR) में कोरोना महामारी (Corona Crisis) के चलते मंहगाई की मार झेल रही आम जनता पर किसान आंदोलन के चलते प्याज और टमाटर समेत अन्य सब्जियों के दाम बढ़ने से मंहगाई की दोहरी मार पड़ने लगी है। दिल्ली-एनसीआर में दो दिन पहले 25 रुपए किलो बिकने वाले प्याज के दाम बढ़कर 40 रुपए प्रति किलो हो गए हैं, तो वहीं टमाटर का खुदरा भाव बीते रविवार को 40 रुपए प्रति किलो रिपोर्ट किया गया। 

कांग्रेस स्थापना दिवस पर राहुल गांधी- 'देश हित की आवाज उठाने के लिए कांग्रेस शुरू से प्रतिबद्ध

ये हैं सब्जियों के बढ़े हुए दाम
किसान आंदोलन के चलते टमाटर और प्याज के अलावा कई अन्य सब्जियों के भाव में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला है। अन्य सब्जियों के रेट की बात करें तो फूल गोभी 20 रु किलो, आलू 20 रु किलो, बैंगन 30 रु किलो, करेला 80 रु किलो, खीरा 40 रु किलो, लौकी 30 रु किलो दर्ज किया गया।

Delhi Metro: देश की पहली चालक रहित मेट्रो ट्रेन का आज पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ, जानें क्या है खासियत

इस कारण बढ़े दाम
मीडिया रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार सब्जी विक्रेता को पहले टमाटर का जो कैरट 300 का मिलता था उसके रविवार को दाम बढ़कर 600 रुपए पर पहुंचा गया है। इस मंहगाई को लेकर सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि ठंड बढ़ने और किसान आंदोलन के कारण सीमा प्रभावित होने से प्याज और टमाटर के अलावा अन्य सब्जियों और फलों के दाम में बढ़ोतरी दर्ज हूई है।

बिहार में लव-जिहाद कानून चाहती है बीजेपी, जदयू ने किया विरोध, क्या BJP को हो सकता है नुकसान?

किसान आंदोलन को हुआ एक महीने से अधिक का समय
उधर, कृषि कानून (Farm Bill) के खिलाफ दिल्ली कूच के एक महीने के बाद अब किसानों ने आंदोलन के रणनीति बदलाव करने की शुरुआत की है। रणनीति के तहत अब ये आंदोलन अन्य राज्यों तक ले जाने पर फोकस कर रहे हैं। किसान नेता पटना, महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों के किसान संगठनों को साधने की कोशिश में लगे हैं। उनकी कोशिश होगी कि अन्य राज्यों में आंदोलन तेज हो। 

राहुल के विदेश जाने पर गिरिराज सिंह ने कसा तंज, पूछा- 'भारत में छुट्टी खत्म'

आंदोलन की रणनीति में होगा बदलाव
केंद्र के नेता किसान आंदोलन को लेकर आए दिन बयान दे रहे हैं। अब तक के आंदोलन को देखकर ऐसा लग रहा है कि यह आंदोलन केवल पंजाब तक ही सीमित है। इसे वहां कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल बढ़ावा देने में लगे हैं। इसी के तहत अब किसान संगठन दिल्ली बॉर्डर पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली बॉर्डर पर हो रहे आंदोलन में अन्य संगठन भी धीरे-धीरे हिस्सा लेकर समर्थन देना शुरू कर दिया है। किसान आंदोलन के लगातार तेज होने के बाद अब सब्जियों के दाम में ओर बढ़ोतरी होने की संभावना है।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.