Saturday, May 08, 2021
-->
india china to talk again today amidst ladakh border dispute sohsnt

लद्दाख सीमा विवाद के बीच भारत-चीन आज फिर करेंगे बातचीत

  • Updated on 8/20/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर जारी गतिरोध के बीच दोनों देशों में वर्किंग मैकेनिज्म ऑफ कोऑपरेशन एंड कोऑर्डिनेशन (WMCC) को लेकर आज यानी गुरुवार को बैठक होने जा रही है। दोनों देशों के बीच सीमा पर पिछली स्थिति बहाल करने को लेकर अब तक पांच बार कमांडर स्तर की बैठक हो चुकी है, लेकिन चीनी सैनिक इसके बाद भी पैंगोंग सहित कई अन्य इलाकों से अभी तक पीछे नहीं हटे हैं।

व्हाइट हाउस ने कहा- भारत का हमेशा 'भरोसेमंद मित्र' रहेगा अमेरिका

विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव स्तर की बातचीत
ऐसे में अब इस स्थिति से निपटने के लिए दोनों देशों के विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत कर फिलहाल की स्थिति से निपटने की दिशा में चर्चा करेंगे। डब्ल्यूएमसीसी का कार्य मंच सैन्य और कूटनीतिक स्तर की बातचीत का एजेंडा तय करना होता है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अफगानिस्तान के विदेश मंत्री से की बातचीत, शांति प्रक्रिया पर हुई चर्चा

विवादित इलाके से पीछे नहीं हट रहा चीन
सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, भारत बातचीत के सभी विकल्पों का प्रयोग कर इस मामले को शांति पूर्वक तरीके से सुलझाने की दिशा में प्रयासरत है। वहीं दूसरी ओर चीन लगातार हो रही बैठकों और समझौतों के बाद भी पीछे हटने को राजी नहीं है। सीमा विवाद को लेकर हाल ही में विशेष प्रतिनिधि एनएसए अजीत डोभाल और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच तय एजेंडे के आधार पर बात हुई थी।

अमेरिका ने चीन पर लगाए गंभीर आरोप, हांगकांग से खत्म किए तीन द्विपक्षीय समझौते

हाल ही में हुई थी पांचवें स्तर की बैठक
वहीं दूसरी ओर हाल ही में भारतीय और चीनी सेना के शीर्ष कमांडरों के बीच पांचवें स्तर की बैठक हुई थी जो करीब 11 घंटे तक चली। बैठक को लेकर अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबकि, बातचीत के दौरान भारत ने पैंगोंग सो और पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास टकराव वाले सभी स्थानों से चीनी सैनिकों के जल्द से जल्द पूरी तरह पीछे हटने को लेकर जोर डाला गया था।

अमेरिकी चुनाव : बाइडेन बने डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार, ट्रंप को देंगे टक्कर

स्थिति की तत्काल बहाली पर हुई थी बात 
बैठक के दौरान पूर्वी लद्दाख के सभी क्षेत्रों में पांच मई से पहले वाली स्थिति की तत्काल बहाली पर भी जोर दिया, जब पैंगोंग सो में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के कारण सीमा पर तनाव उत्पन्न हो गया था। रविवार की वार्ता में, भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित 14 कोर के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने जबकि चीनी पक्ष का नेतृत्व दक्षिणी शिनजियांग सैन्य क्षेत्र के कमांडर, मेजर जनरल लियू लिन ने किया। इससे पहले, कोर कमांडर स्तर की पिछली वार्ता 14 जुलाई को हुई थी।

comments

.
.
.
.
.