india condemns chinapakistans shared statement about kashmir

भारत ने कश्मीर को लेकर चीन-पाकिस्तान के साझा बयान की निंदा की

  • Updated on 9/10/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू और कश्मीर (kashmir) पर दुनिया के देशों के समर्थन हासिल करने में भले ही पाकिस्तान (pakistan) नाकाम रहा हो लेकिन चीन (china) ने एक बार फिर से इस मु्द्दे को लेकर भारत (india) पर निशाना साधा है। जिस पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके भारत के स्पष्ट मत को रखा है।


मोदी ने Video के जरिए किया भारत-नेपाल पाइपलाइन का उद्घाटन, नेपाल को कहा- धन्‍यवाद

चीन ने पाकिस्तान को सभी जरुरी मदद का दिया भरोसा
इससे पहले चीनी विदेश मंत्री ने पाकिस्तान का दौरा करके कश्मीर को लेकर पाकिस्तान के रुख का समर्थन किया था। उन्होंने अपने समकक्ष पाकिस्तानी विदेश मंत्री के साथ संयुक्त बयान में जारी करते हुए कहा था कि कश्मीर में भारत के एकतरफा कार्रवाई का चीन विरोध करता है। इस मसले को भारत और पाकिस्तान को मिलकर हल करना चाहिये। वहीं भारत ने चीन-पाकिस्तान के इकॉनामी कॉरिडोर को बनाने में चीन के समर्थन को लेकर भी आपत्ति व्यक्त की है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को तालिबान ने दी धमकी, कहा-अब होगी और अमेरिकीयों की मौत

संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के अनुरुप समाधान का चीन ने दिया सुझाव 

उन्होंने अपने संयुक्त बयान में कहा था कि चीन हमेशा से पाकिस्तान की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता, स्वतंत्रता और राष्ट्रीय गरिमा की रक्षा के लिए समर्थन देता रहेगा। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने दो दिवसीय अपने पाकिस्तान यात्रा में पाकिस्तान के राष्ट्रपति, पीएम सेनाध्यक्ष से मुलाकात की है। चीन के विदेश मंत्री ने जोर देते हुए कहा कि कश्मीर विवाद के समाधान के लिये दोनों देशों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुरुप आगे बढ़ना चाहिये। जिससे शांति पूर्वक हल निकला जा सकता है।   
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.