Wednesday, Oct 23, 2019
india don''''t take lessons from the mistakes thats why the dream is broken

World Cup: नहीं लिया गलतियों से सबक इसलिए टूटा टीम इंडिया का सपना

  • Updated on 7/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विश्व कप (ICC World Cup 2019) में कल हुए सेमीफाइनल से पहले टीम इंडिया (India) का सफर तो शानदार था। न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ सेमीफाइनल में टीम ने बहुत सी गलतियां भी पर क्या ये कहना सही है की भारत ने पहले के मैचों में गलतियां नहीं की होंगी। विश्व कप में टीम इंडिया को हार तो पहले ही जाना चाहिए था, लेकिन पहले विरोधी टीमें भारत के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन ही नहीं कर रही थीं।ये इस विश्व कप में टीम इंडिया का सच है।

World cup 2019: न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया की हार के ये हैं प्रमुख 5 कारण

Image result for india vs new zealand world cup 2019 semi final

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली चैंपियन की तरह

सेमीफाइनल से हुई विदाई के पहले के सभी मैचों को ध्यान से देखें। सिर्फ और सिर्फ ऑस्ट्रेलिया (Australia) का मैच ऐसा है जहां टीम इंडिया ने अपनी साख के मुताबिक प्रदर्शन किया। जहां जिस खिलाड़ी को जो रोल दिया गया था उसने वो रोल पूरा किया। वरना बाकि के सभी मैचों में टीम इंडिया इसलिए जीती क्योंकि विरोधी टीम ने उसके मुकाबले ज्यादा गलतियां कीं।

World Cup: जडेजा ने बतौर फील्डर वर्ल्ड कप में बल्लेबाजों को किया सबसे ज्यादा परेशान

Navodayatimes

कमियों को नजरअंदाज करना पड़ा महंगा

टीम इंडिया को वेस्टइंडीज और श्रीलंका जैसी टीमों के खिलाफ बड़ी जीत भी मिली, लेकिन उस जीत में भी कमियां थीं। उन्हीं कमियों को नजरअंदाज करना सेमीफाइनल में टीम इंडिया को भारी पड़ा। अफसोस इस बात का है कि पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने वाले गेंदबाजों की मेहनत पर पानी फिर गया। आप विश्व कप में भारत का पहला मैच याद कीजिए। दक्षिण अफ्रीका ने सिर्फ 228 रनों का लक्ष्य दिया था। भारत ने इस आसान लक्ष्य को हासिल करने में चार विकेट गंवाए। जीत 48वें ओवर में मिली। पहले मैच में बगैर कोई जोखिम लिए जीतना जरूरी था।

World Cup: विलियम्सन ने किया कोहली का हिसाब चुक्ता, ये हैं भारत की हार के टर्निंग पॉइंट्स

Image result for india vs new zealand world cup 2019 semi final

टीम इंडिया ने आखिरी ओवरों में बनाए कम रन  

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चैंपियन की तरह खेली। उसने ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराया। अगला लीग मैच न्यूजीलैंड से था जो बारिश की भेंट चढ़ गया। फिर पाकिस्तान के खिलाफ हाई वोल्टेज मैच था। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी की। आखिरी पांच ओवरों में टीम इंडिया सिर्फ 38 रन जोड़ पाई। 30 गेंदों पर सिर्फ 38 रन। जो स्कोरबोर्ड साढ़े तीन सौ के पार होना चाहिए था वो 336 पर रुक गया। वो तो पाकिस्तान के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों ने खराब प्रदर्शन किया वरना मुश्लिक उस मैच में भी आ सकती थी क्योंकि बीच मैच में भुवनेश्वर कुमार को हैमस्ट्रिंग की तकलीफ से बाहर जाना पड़ा था।

पीएम ने विराट टीम को दिलाया दिलासा, कहा आपके खेल पर हमें गर्व

Image result for india vs new zealand world cup 2019

टीम इंडिया की मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजी कमजोर

अफगानिस्तान के खिलाफ गिरते पड़ते भारतीय टीम 224 रन बना पाई। वो तो मोहम्मद शमी ने हैट्रिक ले ली वरना कहानी तो उसी मैच में पलट सकती थी। वेस्टइंडीज के खिलाफ 125 रनों की बड़ी जीत तो दिखी, लेकिन टीम मैनेजमेंट ये शायद नहीं देख पाई कि भारतीय बल्लेबाज 50 ओवर में सिर्फ 268 रन बना पाए। टीम इंडिया का अगला मुकाबला इंग्लैंड से था, जिसमें भारत हार गया। बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम 28 रन से जीती, लेकिन बांग्लादेश ने भारतीय फैंस की सांसे रोक दी थीं। श्रीलंका के खिलाफ तो टीम इंडिया ने प्लेइंग 11 में प्रयोगों की झड़ी लगा दी। खराब रणनीति और मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों की कमजोरी के लगातार बने रहने की वजह से टीम इंडिया किसी भी सूरत में विश्व कप जीत नहीं सकती थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.