Friday, May 07, 2021
-->
india has strong objection to saudi arabia showing wrong map sohsnt

G-20 बैंक नोट: गलत नक्शा दिखाने को लेकर सऊदी अरब के सामने भारत ने जताई कड़ी आपत्ति

  • Updated on 10/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सऊदी अरब (Saudi Arabia) द्वारा बैंक नोट पर भारत की सीमाओं को गलत तरीके से दर्शाने पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है।  इस नोट में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को भारत का हिस्सा नहीं दिखाया गया है। ऐसे में विदेश मंत्रालय ने कहा कि, सऊदी अरब के मौद्रिक प्राधिकरण द्वारा जी-20 शिखर सम्मेलन के आयोजन की अध्यक्षता के लिए 20 रियाल का एक बैंकनोट जारी किया गया है। 

फ्रांस के चर्च में हुई हत्याओं पर पीएम मोदी ने जताया दुख, कहा-आतंकवाद के खिलाफ जंग में साथ है भारत

 भारत ने जताई कड़ी आपत्ति
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्व ने कहा कि 'सऊदी अरब के एक आधिकारिक और कानूनी नोट पर भारत की बाहरी क्षेत्रीय सीमाओं की इस गलत बयानी के लिए हमने नई दिल्ली में और साथ ही रियाद में अपने राजदूत के माध्यम से सऊदी अरब के समक्ष अपनी गंभीर चिंता जाहिर की है। 

भारत-अमेरिका प्रेम से बौखलाया चीन, पोंपियों ने दी थी शहीदों को श्रद्धांजलि

विदेश मंत्रालय ने कही ये बात
विदेश मंत्रालय ने इस संबंध में उनसे सुधारात्मक कदम उठाने के लिए भी कहा है।' उन्होंने कहा, 'मैं आगे दोहराना चाहूंगा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश पूरी तरह से भारत का अभिन्न हिस्सा हैं। मिली रिपोर्ट के मुताबिक, मानचित्र में गिलगिट बाल्टिस्तान समेक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भी पाकिस्तान से अगल दर्शाया गया है।

पुलवामा हमले पर कबूलनामे के बाद खौफ में पाकिस्तान, कुछ ही घंटों में बदला बयान, कही ये बात

पाकिस्तान को लगा बड़ा झटका
बता दें कि पाकिस्तान कई मुद्दों पर सऊदी अरब का समर्थन हासिल कर चुका है। दोनों देशों के बीच लंबे समय से अच्छे संबंध देखे गए हैं, ऐसे में पाकिस्तान के मानचित्र से पीओके को हटाए जाना पाकिस्तान के लिए किसी सदमें से कम नहीं है, लेकिन हाल के दिनों में सऊदी अरब और पाकिस्तान के बीच रिस्ते बिगड़ते नजर आ रहे हैं।

आतंक पर पाक का कबूलनामा, फवाद चौधरी ने पुलवामा हमले को बताया बड़ी कामयाबी

पाकिस्तान को इस मुद्दे पर भी नहीं मिला साथ
इससे पहले पाक सरकार को कश्मीर मुद्दे पर सऊदी अरब से बड़ा झटका लगा है। दरअसल, सऊदी अरब ने अपने देश में स्थित पाकिस्तान के दूतावासों को 27 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर के विलय के दिन पर काला दिवस मनाने की अनुमति नहीं दी है। ऐसे में अब सऊदी अरब का ये कदम पाकिस्तान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

comments

.
.
.
.
.