Tuesday, Oct 27, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 26

Last Updated: Mon Oct 26 2020 09:33 PM

corona virus

Total Cases

7,918,102

Recovered

7,141,966

Deaths

119,148

  • INDIA7,918,102
  • MAHARASTRA1,645,020
  • ANDHRA PRADESH807,023
  • KARNATAKA802,817
  • TAMIL NADU709,005
  • UTTAR PRADESH470,270
  • KERALA377,835
  • NEW DELHI356,656
  • WEST BENGAL353,822
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA279,582
  • TELANGANA231,252
  • BIHAR212,192
  • ASSAM204,171
  • RAJASTHAN182,570
  • CHHATTISGARH172,580
  • MADHYA PRADESH167,249
  • GUJARAT165,233
  • HARYANA158,304
  • PUNJAB130,640
  • JHARKHAND99,045
  • JAMMU & KASHMIR90,752
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND59,796
  • GOA41,813
  • PUDUCHERRY33,986
  • TRIPURA30,067
  • HIMACHAL PRADESH20,213
  • MANIPUR16,621
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,207
  • SIKKIM3,770
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,219
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
india-laying-the-highest-rail-line-in-ladakh-to-china-border-prsgnt

लद्दाख में चीनी सीमा तक सबसे ऊंची रेल लाइन बिछा रहा है भारत, टूटेगा ये रिकॉर्ड

  • Updated on 7/13/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत ने चीन के साथ हुए सीमा विवाद के बाद अब अपने तरीके से जवाब देने के बारे में विचार किया है। इसी के चलते अब भारतीय रेलवे ने लेह-लद्दाख तक ट्रैक बिछाने की प्लानिंग को पूरा करने की तरफ कदम बढ़ाया है।

बताया जा रहा है कि इस काम में बिलासपुर-मनाली-लेह परियोजना के प्राथमिक भू सर्वेक्षण का काम पूरा करने के बाद 1500 किलोमीटर रेल सेक्शन की लेवलिंग का काम भी पूरा हो गया है। इसके साथ ही अब हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर से लेह टाउन के बीच 475 किलोमीटर लंबी ब्रॉडगेज पटरी बिछाने का काम भी शुरू कर दिया गया है।

चीन बहिष्कार को सफल बनाने के लिए इंदौर के BJP सांसद बनवा रहे हैं 1 लाख स्वदेशी राखियां

तेजी से चल रहा है काम
भारत कोरोना काल से जूझ रहा है लेकिन इस योजना को पूरा करने का काम जोरो पर चल रहा है। अब तक योजना के अनुसार ही कुल रेल मार्ग 475 किलोमीटर के प्राथमिक भू-सर्वेक्षण का कार्य पूरा किया गया है। पुल, सुरंग, स्टेशनों के महत्वपूर्ण स्थानों पर 184 कंट्रोल प्वाइंटों वाले 89 स्थानों की पहचान की गई है।

इतना ही नहीं, इस सेक्शन पर 1500 किलोमीटर मार्ग के तीसरी स्टेज की लेवलिंग का काम पूरा हो गया है। यहां कम तापमान और कम ऑक्सीजन स्तर वाले दुनिया के सबसे ऊंचे दर्रों में से एक पर लेवलिंग का कार्य पूरा कर लिया है।

LAC पर क्यों पीछे हटी चीनी सेना? जानिए चीन के शांति स्थापित करने की मंशा के पीछे का सच!

51% मार्ग सुरंगों में
बताया जा रहा है कि इस नई रेल लाइन जो बिलासपुर, सुंदरनगर, मंडी, मनाली, केलांग, कोकसर, डारचा, सरचु, पंग, देबरिंग, उपशी और खारूटो लेह के पहाड़ी इलाकों तक संपर्क बनाएगी। इस रेल लाइन का 51% मार्ग सुरंगों से होकर गुजरेगा। इसकी सबसे लंबी सुरंग 13.5 किलोमीटर की होगी और सुरंगों की कुल लंबाई 238 किलोमीटर रहेगी।

LAC पर दिखी वायुसेना की ताकत, चिनूक, मिग-29, अपाचे के साथ हुआ नाइट ऑपरेशन, देखें वीडियो

10 बड़े पुल
इसके साथ ही रेल मार्ग पर 110 बड़े पुल बनाए जाने की प्लानिंग है, जिनकी कुल लंबाई 23 किलोमीटर होगी। इसके साथ ही 31 रेलवे स्टेशन बनाए जाने का प्रस्ताव भी है, जिनकी कुल लंबाई 33 किलोमीटर होगी। इस रेल लाइन के निर्माण की अनुमानित लागत 68,000 करोड़ रुपये हैं और इसके बनने से दुनिया की सबसे ऊंची रेल लाइन बनाने का कीर्तिमान स्थापित होगा।

यहां पढ़ें भारत-चीन विवाद से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.