Saturday, May 08, 2021
-->
India may get Covid vaccine by March, says Serum official prsgnt

GOOD NEWS: सीरम इंस्टिट्यूट ने कहा- “मार्च तक मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन”, WHO ने दिए ये संकेत

  • Updated on 10/17/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मरीज 74 लाख के पार जा चुके हैं और अब हर किसी को कोरोना वैक्सीन का इंतज़ार है। भारत में तीन कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है जिनमें से सीरम इंस्टिट्यूट द्वारा बनाई जाने वाली कोरोना वैक्सीन पर सभी की नज़र है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने इस बारे में कहा था कि भारत को आने वाले साल में वैक्सीन मिल सकती है। डॉ हर्षवर्धन की इस बात पर अब सीरम इंस्टिट्यूट ने भी मोहर लगा दी है और कहा है कि मार्च तक भारत को वैक्सीन मिल जाएगी। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ युद्ध में कोविड-19 गाइडलाइंस का शक्ति से पालन करना होगा। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखना होगा। समय-समय पर हाथों को सैनिटाइज करते रहना होगा। इसके साथ ही हर्षवर्धन ने कहा कि इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी ने अपने रक्त केंद्रों के जरिए यह सुनिश्चित करने के लिए व्यापक कदम उठाए हैं कि जरूरतमंद लोगों के लिए रक्त की कोई कमी न पड़े।

COVID-19: त्योहारी सीजन में बढ़ा तेजी से कोरोना फैलने का खतरा, दुर्गा पूजा पर रोक के लिए याचिका

वहीँ, इस बारे में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया (Serum Institute of India) के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश जाधव ने कहा कि 2021 के मार्च महीने तक भारत को कोरोना की वैक्सीन मिल सकती है। 

इस बारे में इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए उन्होंने साफ किया कि भारत जल्द ही कोरोना वायरस बना लेगा। इस दिशा में कई कंपनियां तेजी से काम कर रही हैं। इनमें से 2 फेज-3 के ट्रायल में है जबकि एक फेज-2 के ट्रायल में है। इसके साथ ही कई और कंपनियां इस दौड़ में शामिल हैं।

कोरोना को लेकर केंद्र पर भड़के राहुल गांधी, कहा- PAK ने वायरस को बेहतर तरीके से संभाला

इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन World Health Organization के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथ ने कहा कि वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में उतार-चढ़ाव आना सामान्य बात है। हमारे हिसाब से अगले साल के मार्च महीने तक कोरोना वैक्सीन तैयार हो जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जनवरी 2021 से हमें नई वैक्सीन पर परिणाम मिलने शुरू हो जाएंगे।

डॉक्टर स्वामीनाथन ने यह भी कहा कि वैक्सीन के आने के बाद 70% लोगों को इसे लगाए जाने की जरुरत होगी ताकि वायरस के ट्रांसमिशन की कड़ी को तोड़ा जा सके। 

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का बड़ा ऐलान, कहा- कुछ ही महीनों में कोरोना वैक्सीन आने की उम्मीद

इंडियन वैक्सीन एक्सेसिबिलिटी ई-समिट (India Vaccine Accessibility e-Summit ) में बोलते हुए डॉक्टर जाधव ने कहा कि ‘अगर एक बार सभी चीजें सही दिशा में चल पड़े तो हम हर साल 700-800 मिलियन वैक्सीन तैयार कर सकते हैं। 

उन्होंने यह भी कहा कि हमारी 55% आबादी 50 साल से कम उम्र के लोगों की है। लेकिन वैक्सीन की अवैलबिल्टी को देखते हुए सबसे पहले मेडिकल कर्मियों को यह वैक्सीन दी जाएगी। इसके बाद दूसरा नंबर 60 की उम्र से ऊपर के लोगों का होगा।’

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

comments

.
.
.
.
.