Wednesday, May 12, 2021
-->
India nepal border tension Bihar Sitamarhi Nepal police firing lagan rai SOBHNT

नेपाल पुलिस से छूटकर लौटे भारतीय ने कहा,- मुझे भारतीय सीमा से पकड़ा, झूठा बयान देने को बनाया दबाव

  • Updated on 6/13/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  शुक्रवार को नेपाल पुलिस ने बिहार के सीतामढ़ी बॉर्डर पर फायरिंग की थी। जिसमें एक भारतीय की मौत हुई थी और 3 भारतीय घायल हुए थे। इसके अलावा कुछ लोगों को नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जिन लोगों को नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार किया था शनिवार को उन्हें पुलिस ने छोड़ दिया है। 
 
असली अनामिका शुक्ला को मिली नौकरी, इनके नाम पर कर रहे है थे 2 दर्जन से अधिक लोग नौकरी

लगन राय ने सुनाई आपबीती
छोड़े गए लोगों में से एक लगन राय ने कहा है कि अपनी आप बीती बताते हुए बताया है कि उनका बेटा नेपाल की सीमा में था और वह अपने ससुराल वालों से मिलने के लिए नेपाल गया हुआ था। वह बताते हैं कि जब उनका बेटा आ रहा था नेपाल पुलिस ने उनको मारा मैने भी उन्हें इतना ही कहा था कि उन लोगों को ऐसा नहीं करना चाहिए थे। जिसके बाद वह लोग उग्र हो गए।
 


विधायकों को प्रलोभन की शिकायत पुलिस के विशेष कार्यबल से की : गहलोत

एक नागरिक की हुई मौत
उन लोगों ने 10 और पुलिस वालों को बुला लिया और मेरे बेटे और मुझे मारने लगे। उन्होंने कई राउंड फायरिंग भी की थी। वह वहां मौजूद लोगों को बंदूक क बट से मार रहे थे। इस फायरिंग में जानकीनगर टोला लालबंदी निवासी नागेश्वर राय के 25 वर्षीय पुत्र विकेश कुमार की मौत हो गई।   

राहुल गांधी ने कहा- अहंकार, अक्षमता के घातक मिश्रण का परिणाम है मौजूदा त्रासदी 

भारत सीमा से पकड़ा
लगन राय ने बताया है कि उनको नेपाल पुलिस ने भारतीय सीमा से गिरफ्तार किया है। और उसके बाद वह उसे नेपाल के संग्रामपुर ले गए वहां वह लोग उनसे जबरजस्ती यह बुलावा रहे थे कि वह उन्हें नेपाल सीमा से पकड़ के लाए हैं। लेकिन मैने साफ मना कर दिया कि आप मेरी जान ले लीजिए मगर मैं यह नहीं कहूंगा कि आपने मुझे नेपाल से पकड़ा है।  
 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.