Friday, May 20, 2022
-->
India''s condition Chinese army retreating from all places of tension PRSHNT

कोर कंमाडर बैठक में भारत की शर्त, तनातनी वाली सभी जगहों से पीछे हटे चीनी सेना

  • Updated on 9/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत और चीन (India and China) के बीच तनाव लगातार जारी है। ऐसे में पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर कोर कमांडर स्तर की छठे दौर की बातचीत 12 घंटे से ज्यादा चली। इस बैठक में भारत ने चीन के समक्ष पैंगोंग झील (Pangong Tso) और डेपसांग (Depsang) समेत सभी तनावग्रस्त जगहों से वापस जाने की शर्त रखी है। 

केरल: NIA के हाथ लगी एक और बड़ी सफलता, तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट से 2 आतंकवादी गिरफ्तार

दोनों पक्षों ने एक दूसरे से जताई सहमति
भारत ने कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारत की जमीन पर घुसपैठ की कोशिश की है, इसलिए उसे पहले पीछे हटकर सीमा विवाद मामले में गंभीरता दिखानी होगी। वहीं दूसरी ओर भारतीय सैनिकों द्वारा पैंगोंग के दक्षिणी छोर की साअहम चोटियों पर कब्जा को लेकर चीन तीलमिलाया हुआ है।

चीन के कोर कंमाडर ने इस बैठक में भारतीय सेना को इन इलाकों से पहले हटने को कहा है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे से सहमत थे। बताया जा रहा है कि बातचीत मंगलवार को भी जारी रह सकती है।

महाराष्ट्र के पालघर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 3.5 रही तीव्रता

जयशंकर और वांग यी के बीच हुई थी बैठक
इससे पहले शंघाई सहयोग संगठन से अलग 10 सितंबर को मास्को में विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच बैठक हुई, जिसमें दोनों पक्ष सीमा विवाद हल करने पर एक सहमति पर पहुंचे थे। 

उस बैठकर के दौरान समस्या से छुटकारा पाने के लिए उपायों में सैनिकों को शीघ्रता सीमा से हटाना, सीमा प्रबंधन पर सभी समझौतों एवं प्रोटोकॉल का पालन करना, तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाई से बचना, और एलएसी पर शांति बहाल करने के जैसे फैसले शामिल हैं। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें

comments

.
.
.
.
.