Sunday, Mar 07, 2021
-->
india-to-finalize-2-5-billion-dollars-deal-to-buy-56-transport-aircraft-for-air-force-prsgnt

भारतीय वायुसेना के लिए 56 विमान खरीदने की तैयारी शुरू, 2.5 अरब डॉलर का होगा सौदा

  • Updated on 1/6/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने अपने आने-जाने को सरल बनाने के लिए सरकार से सुविधाएं मुहैया कराने की सिफारिश की थी जिसके एवज में अब सरकार ने आवागमन की सुविधा को आसान बनाने के लिए आगामी कुछ महीने में 56 विमान खरीदने का निर्णय लिया है।

विमान कंपनी एयरबस के साथ 2.5 अरब डॉलर का यह सौदा तय किया गया है जिसके तहत ही भारतीय कंपनी की परियोजना को अंतिम रूप दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार यह परियोजना मेक इन इंडिया मुहिम के तहत रक्षा क्षेत्र में पूरी की जाएगी। 

SC की नसीहत- घरेलू महिलाएं आर्थिक योगदान नहीं देतीं...यह मानसिकता बदलें

पहला समझौता
इस बारे में वायुसेना के अधिकारियों का कहना है कि यह अपनी तरह का पहला समझौता होने जा रहा है जिसमें दो प्राइवेट कंपनियों की भागीदारी है। इस परियोजना के समझौते के तहत एयरबस से सी-295 नामक 16 परिवहन विमान खरीदे जाएंगे और कंपनी के साथ मिलकर 40 विमानों का मेक इन इंडिया के तहत भारत में ही निर्माण किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि विमान खरीदने की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है और जल्द ही इसके सौदे पर अंतिम मुहर लगा दी जाएगी।

बिहार कांग्रेस विभाजन के कगार पर! RJD से गठबंधन से खफा 11 MLA थामेंगे नीतीश का हाथ

भारतीय कंपनी की भागीदारी एयरबस के साथ
वहीँ, इस बारे में रक्षा मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय कंपनी की भागीदारी एयरबस के साथ है और इसके तहत  56 सी-295 विमान खरीदे जाएंगे। भारत में 40 विमानों को बनाने की मंजूरी लगभग मिल चुकी है और जल्द ही इस पर समझौते के हस्ताक्षर हो जाएंगे। भारत सरकार वायुसेना के एवरो विमानों की जगह सी-295 विमान लाने जा रही है।

बता दें, पिछले माह ही रक्षा मंत्रालय ने वायुसेना के लिए 28 हजार करोड़ रुपये के हथियार और सैन्य उपकरण खरीदने की अनुमति दी थी जिसमें छह एयरबोर्न वार्निंग और कंट्रोल सिस्टम विमान भी शामिल किए गए हैं।

पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.