Friday, Jan 21, 2022
-->
india-will-continue-oil-import-business-with-iran

भारत ने दिया अमेरिका को दूसरा झटका, S-400 डील के बाद ईरान के साथ जारी रहेगा कारोबार

  • Updated on 10/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत और रूस के बीच एस-400 मिसाइल डील पर मुहर लग गई है। अमेरिका की तमाम धमकियों को दरकिनारे कर भारत ने इस सौदे को किया। अब भारत ने अमेरिका को दूसरा बड़ा झटका देते हुए संकेत दिए हैं कि वह अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद ईरान के साथ कारोबार जारी रखेंगे।

सरकारी रिफाइनर्स ने ईरान से 1.25 मिलियन टन क्रूड ऑयल खरीदने के लिए करार किया है। यहीं नहीं भारत ने अमेरिका डॉलर में पेमेंट की जगह रुपये में कारोबार करने की दिशा में भी कदम बढ़ाने की तैयारी कर ली है। 

पेट्रोल-डीजल में कीमत कटौती के बाद अमित शाह ने ली राहत की सांस

आपको बता दें कि अमेरिका 4 नवंबर से ईरान से तेल खरीदने वाले देशों के लिए अपने प्रतिबंधों को पूरी तरह प्रभावकारी बना देगा। हालांकि ईरान के साथ अमेरिका का द्विपक्षीय मसला है, लेकिन अमेरिका इसमें सारे देशों को शामिल कर रहा है। अमेरिका ने साफ कहा है कि अगर नवंबर के बाद कोई भी देश ईरान के साथ बिजनेस करेगा तो वो अमेरिका के साथ बिजनेस नहीं कर पाएगा।

पेट्रोल-डीजल के दामों पर बड़ी राहत, 12 राज्यों में 5 रुपए सस्ता हुआ तेल

इसके बाद भा भारत ने ईरान के साथ बिजनेस जारी रखने का फैसला लिया है। सूत्रों का कहना है कि IOC सामान्य मात्रा में ईरान से हर महीने तेल खरीद रहा है. वित्त वर्ष 2018-19 में (अप्रैल 2018 से मार्च 2019) इसने 9 मिलियन टन ईरानी तेल आयात करने की योजना बनाई है। जिसका मतलब है कि आईओसी एक महीने में 0.75 मिनियम टन खरीद रहै है। भारत कम मात्रा में ही लेकिन ईरान के साथ कारोबार जारी रखना चाहता है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.