Friday, May 14, 2021
-->
indian army was ready for conventional war with pakistan after balakot strike

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के साथ पारंपरिक युद्ध के लिए तैयार थी सेना!

  • Updated on 8/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) के द्वारा बालाकोट हमले (Balakot Airstrike) के बाद सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत (Army Chief Bipin Rawat) ने सरकार के प्रमुख लोगों को स्पष्ट रूप से बता दिया था कि सेना पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा किए जाने वाले किसी भी जमीनी हमले से निपटने और शत्रु की सीमा के भीतर युद्ध लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है। सेना के शीर्ष सूत्रों ने यह जानकारी दी है। सूत्रों के अनुसार भारतीय सेना (indian army) पाकिस्तान के साथ परंपरागत युद्ध के लिये तैयार थी और इसमें पाकिस्तानी सीमा के अंदर जाना भी शामिल था।

PM मोदी की ट्रंप से बातचीत, बिना नाम लिए पाकिस्तान पर साधा निशाना

भारतीय सेना युद्ध के लिए थी तैयार

पुलवामा आतंकी हमले  (Pulwama Terror Attack) के बाद सरकार जब हवाई हमले करने समेत विभिन्न विकल्पों पर विचार कर रही थी तब सेना प्रमुख ने सरकार को अपने बल की तैयारियों के बारे में बताया था। सूत्रों ने कहा कि जनरल रावत ने सेवानिवृत्त हो रहे सैन्य अधिकारियों के एक समूह से बंद कमरे में बातचीत के दौरान सोमवार को कहा कि बालाकोट हमले के बाद बल पाकिस्तानी सेना (pakistani army) द्वारा की जाने वाली किसी आक्रामकता से निपटने के लिए युद्धक रूप तैयार है।

संगीतकार खय्याम का निधन, बॉलीवुड फिल्मों को दी थीं बेहतरीन धुनें   

सेना युद्ध को पाकिस्तानी सीमा में ले जाने को थे तैयार

जनरल रावत की टिप्पणी की व्याख्या करते हुए सेना के एक अधिकारी ने कहा कि सेना प्रमुख यह कहना चाह रहे थे कि सेना युद्ध को पाकिस्तानी सीमा में ले जाने के लिये तैयार थी। सूत्रों ने कहा कि सितंबर 2016 में उरी आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने 11 हजार करोड़ रुपये के आयुध खरीद अनुबंधों को अंतिम रूप दिया था और उसे इसमें से 95 फीसद मिल भी चुके हैं। पुलवामा हमले (Pulwama Terror Attack) के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान की सीमा में बालाकोट के निकट जैश-ए-मोहम्मद (jaish-e-Mohammed) के सबसे बड़े आतंकी प्रशिक्षण समूह पर बमबारी की थी।        

फेक न्यूज पर SC से अपील- सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ा जाए  

सरकार ने तीनों सेनाओं को आपात शक्तियां प्रदान की थी

पाकिस्तान (pakistan) ने इसके पलटवार में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की लेकिन वायुसेना ने उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया था। सूत्रों ने कहा कि बीते करीब दो साल से ज्यादा के वक्त में भारतीय सेना ने अपने प्रमुख आयुध और गोला-बारूद उपलब्धता में काफी सुधार किया है, उन्होंने माना कि पहले उनकी कमी अहम मुद्दा होती थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उरी हमले के बाद हथियार और आयुध की उपलब्धता में काफी सुधार हुआ है।        

उन्नाव कांड: सड़क दुर्घटना मामले की जांच के लिए CBI को मिली मोहलत

पिछले साल मार्च में तीनों सेनाओं के उप प्रमुखों को अतिरिक्त वित्तीय शक्तियां प्रदान की गई थीं जिससे वे अभियानगत तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिये खास खरीद सुनिश्चित कर सकें। पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर सरकार ने तीनों सेनाओं को सरकार ने पाकिस्तान से लगने वाली सीमा पर अभियानगत तैयारियों को बढ़ाने के लिये हथियार और सैन्य साजो सामान खरीदने की आपात शक्तियां प्रदान की थी।    
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.