Friday, Jun 18, 2021
-->
indian-economy-is-expected-to-grow-at-8-9-in-the-next-financial-year-prshnt

भारतीय अर्थव्यवस्था में उछाल का अनुमान, अगले वित्त वर्ष में 8.9% दर से होगी वृद्धि

  • Updated on 1/9/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) अगले वित्त वर्ष 2021-22 में 8.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करेगी। आई.एच.एस. मार्कीट (IHS Marquette) ने यह अनुमान लगाया है। आई.एच.एस. मार्कीट ने जारी नोट में कहा है कि आखिरी तिमाही में आॢथक गतिविधियों में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। ऐसे में अप्रैल, 2021 से शुरू हो रहे वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था अच्छी वृद्धि दर्ज करेगी।

केरल के राज्यपाल ने की मोदी सरकार के कृषि कानूनों की आलोचना

भारतीय अर्थव्यवस्था में गिरावट
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एन.एस.ओ.) ने अनुमान लगाया है कि चालू वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.7 प्रतिशत की गिरावट आएगी। आई.एच.एस. मार्कीट के नोट में कहा गया है, 2020 में भारतीय अर्थव्यवस्था में जबरदस्त मंदी रही। अर्थव्यवस्था में सबसे अधिक गिरावट मार्च से लेकर अगस्त तक रही। सितम्बर से आर्थिक गतिविधियां सुधर रही हैं।

चालू वित्त वर्ष की पहली अप्रैल-जून तिमाही में अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की बड़ी गिरावट आई। दूसरी जुलाई-सितम्बर की तिमाही में अर्थव्यवस्था की गिरावट कम होकर 7.5 प्रतिशत रह गई। 

मुलायम सिंह यादव की बायोपिक को लेकर फिल्मकार घोष ने किए कई रोचक खुलासे

भारत के समक्ष अपनी 1.4 अरब आबादी के टीकाकरण की बड़ी चुनौती
नोट में कहा गया है कि भारत के समक्ष अपनी 1.4 अरब आबादी के टीकाकरण की बड़ी चुनौती है। भारत में कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम जल्द शुरू होने जा रहा है। स्वास्थ्य नियामक ने ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अनुमति दे दी है। भारत के लिए बड़ी लाभ की स्थिति यह है कि ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका टीके का उत्पादन देश में ही सीरम इंस्टीच्यूट ऑफ इंडिया द्वारा किया जा रहा है। सीरम इंस्टीच्यूट ने कहा है कि वह अप्रैल, 2021 तक इस टीके की 10 करोड़ खुराक का उत्पादन कर सकेगी। 

सरकार की दो टूक: कानून वापस नहीं होगा, किसान कोई और विकल्प दें: तोमर

उच्चतम स्तर से 6,000 रुपए तक सस्ता हो चुका है सोना
वैश्विक बाजार में सपाट कारोबार के बाद आज सोना और चांदी के भाव में गिरावट आई है। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एम.सी.एक्स.) पर फरवरी का वायदा भाव 0.25 प्रतिशत की गिरावट के बाद 50,775 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गया है। बीते तीन दिन में दूसरी बार यह गिरावट देखने को मिली है। इसके पहले सत्र में सोने के भाव में 0.85 प्रतिशत की तेजी देखने को मिली है। हालांकि यह तेजी एक ही दिन में 1,200 रुपए प्रति 10 ग्राम तक लुढ़कने के बाद आई थी। 

बीएसएफ के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, पंजाब सीमा से 6 पाकिस्तानी जवानों को किया गिरफ्तार

अर्थशास्त्रियों और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ बैठक
बता दें कि किसान वार्ता के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रमुख अर्थशास्त्रियों और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ शुक्रवार को आगामी आम बजट पर चर्चा की। इस वर्चुअल बैठक का आयोजन नीति आयोग ने किया। बैठक में कोविड-19 महामारी की वजह से कई मोर्चों पर पैदा हुई अनिश्चितता के बीच उन उपायों पर चर्चा हुई, जिन्हें बजट में शामिल कर वृद्धि को प्रोत्साहन दिया जा सकता है। 

बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर, नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और नीति आयोग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कान्त भी शामिल हुए। इनके अलावा बैठक में शीर्ष अर्थशास्त्री और विशेषज्ञ अरविंद पनगढिय़ा, के वी कामत, राकेश मोहन, शंकर आचार्य, शेखर शाह, अरविंद विरमानी तथा अशोक लाहिड़ी भी शामिल हुए। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.