Friday, May 29, 2020

Live Updates: 66th day of lockdown

Last Updated: Fri May 29 2020 10:54 AM

corona virus

Total Cases

165,729

Recovered

70,920

Deaths

4,711

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA59,546
  • TAMIL NADU19,372
  • NEW DELHI16,281
  • GUJARAT15,572
  • RAJASTHAN8,067
  • MADHYA PRADESH7,453
  • UTTAR PRADESH7,170
  • WEST BENGAL4,536
  • ANDHRA PRADESH3,245
  • BIHAR3,185
  • KARNATAKA2,533
  • TELANGANA2,256
  • PUNJAB2,158
  • JAMMU & KASHMIR2,036
  • ODISHA1,660
  • HARYANA1,504
  • KERALA1,089
  • ASSAM881
  • UTTARAKHAND500
  • JHARKHAND470
  • CHHATTISGARH398
  • CHANDIGARH289
  • HIMACHAL PRADESH281
  • TRIPURA244
  • GOA69
  • MANIPUR55
  • PUDUCHERRY53
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA21
  • NAGALAND18
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
indian railways ppe uniform for doctors medical personnel fighting coronavirus privatization rkdsnt

निजीकरण की मार झेल रही भारतीय रेलवे ने इस तरह दिखाया कोरोना से लड़ने का जज्बा

  • Updated on 4/7/2020

नई दिल्ली/ब्यूरो। भारतीय रेलवे कोरोना वायरस से निपटने के लिए अपनी रफ्तार तेज कर दी है। साथ ही अपनी पूरी ताकत और संसाधन लगा दिए हैं। ट्रेनों के 2,500 डिब्बों को आईसोलेशन कोच में बदलने के बाद अब रेलवे के डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों के लिए पीपीई-पोशाक बनाने जा रही है। शुरुआत हरियाणा में पड़ते जगाधरी स्थिति रेलवे कार्यशाला में सबसे पहले पीपीई-पोशाक तैयार किए जा रहे हैं। यहां रोजाना 1000 पीपीई-पोशाक का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ ही भारतीय रेलवे अपने अन्य 17 निर्माण ईकाईयों (कोच फैक्ट्रियों, कारखानों एवं इंजन कारखानों) में भी जल्द ही निर्माण कार्य शुरू करेंगी।

कोरोना लॉकडाउन 14 अप्रैल तक, लेकिन प्राइवेट ट्रेनों की बुकिंग 30 अप्रैल तक बंद

रेलवे की जगादरी ईकाई से हुई शुरुआत, जल्द पूरे देश में बनेगा
सूत्रों के मुताबिक रेलवे पहले अपने कर्मचारियों और बाद में समय की मांग को देखते हुए रेलवे, अन्य फ्रंट लाइन चिकित्साकर्मियों की कुल पीपीई-पोशाक जरूरतों के 50 प्रतिशत की आपूर्ति करने की तैयारी कर रहा है। जानकारी के मुताबिक भारतीय रेल ने अपनी कार्यशालाओं में पीपीई-पोशाक के उत्पादन की शुरूआत की है। जगाधरी कार्यशाला के द्वारा तैयार पीपीई-पोशाक को डीआरडीओ से मंजूरी मिली है, जो इस कार्य के लिए अधिकृत संस्था है। मंजूर किए गए डिजाइन और सामग्री के आधार पर विभिन्न जोन स्थित कार्यशालाएं सुरक्षा प्रदान करने वाली इन पोशाकों का निर्माण करेंगी। 

AAP ने पूछा- जब भारत स्वयं संकट में है तो मोदी जी अमेरिकी दवा गोदाम क्यों भरने में जुटे हैं?

रेलवे अस्पतालों के अलावा देश के बाकी अस्पतालों में भी जाएगा
रेलवे के अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों की देखभाल में जुटे रेलवे के फ्रंटलाइन डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों को इस पीपीई-पोशाक से काफी सहायता प्राप्त होगी। रेलवे का दावा है कि पीपीई-पोशाक के कुल उत्पादन के 50 प्रतिशत को देश के अन्य चिकित्साकर्मियों के लिए उपलब्ध कराएगा।  प्रवक्ता के मुताबिक आनेवाले दिनों में उत्पादन सुविधाओं को और बढ़ाया जाएगा। इस पोशाक के विकास और रेलवे के नवाचार को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में जुटे अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा भी स्वागत किया जा रहा है।

सोनिया गांधी के ये 5 सुझाव कोरोना से लड़ने में मोदी सरकार के लिए हो सकते हैं मददगार

रोजाना 1000 पीपीई-पोशाक का निर्माण किया जाएगा
 इस पीपीई-पोशाक के तकनीकी विवरण और सामग्री आपूर्तिकर्ता दोनों तैयार हैं। अब उत्पादन सही तरीके से शुरू किया जा सकता है। यह पोशाक कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में जुटे डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों को सुरक्षा प्रदान करने में प्रोत्साहन प्रदान करेगा। रेलवे प्रवक्ता के मुताबिक पोशाक के लिए सामग्री की खरीद केन्द्रीकृत रूप में जगाधरी कार्यशाला द्वारा की जा रही है, जो पंजाब के कई बड़े कपड़ा उद्योगों के निकट स्थित है।

भारत के इस राज्य के सीएम ने 3 जून तक बढ़ाया कोरोना लॉकडाउन, लेकिन फिर....

  बता दें कि रेलवे का यह आंतरिक प्रयास भारत सरकार को किए गए एक अनुरोध पर आधारित है और मांग के अनुरूप एचएलएल को भी जानकारी दी गई है। इतने कम समय में पीपीई का विकास करना एक बड़ी उपलब्धि है, जिसका अनुसरण अन्य एजेंसियां भी करना चाहेंगी। इससे फ्रंटलाइन चिकित्साकर्मियों के लिए जरूरी सुरक्षात्मक पोशाक के उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा।

कोरोना कहर से बचने के लिए रघुराम राजन ने मोदी सरकार को दिए खास सुझाव

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.