Friday, May 29, 2020

Live Updates: 65th day of lockdown

Last Updated: Thu May 28 2020 09:53 PM

corona virus

Total Cases

165,028

Recovered

70,556

Deaths

4,695

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA59,546
  • TAMIL NADU18,545
  • NEW DELHI16,281
  • GUJARAT15,572
  • RAJASTHAN7,947
  • MADHYA PRADESH7,453
  • UTTAR PRADESH6,991
  • WEST BENGAL4,192
  • ANDHRA PRADESH3,245
  • BIHAR3,036
  • KARNATAKA2,418
  • PUNJAB2,139
  • TELANGANA2,098
  • JAMMU & KASHMIR1,921
  • ODISHA1,593
  • HARYANA1,381
  • KERALA1,004
  • ASSAM784
  • UTTARAKHAND469
  • JHARKHAND458
  • CHHATTISGARH364
  • CHANDIGARH287
  • HIMACHAL PRADESH273
  • TRIPURA242
  • GOA68
  • PUDUCHERRY49
  • MANIPUR44
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA20
  • NAGALAND9
  • ARUNACHAL PRADESH2
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
INDIAN Railways will get a single window clearance system

रेलवे के लिए बनेगा सिंगल विंडो क्लियरेंस सिस्टम, CM ने की रेल लाइन कार्यों की समीक्षा

  • Updated on 10/10/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन के निर्माण की सभी तकनीकी और व्यवहारिक दिक्कतों को दूर करने के लिए सभी संबंधित जिलों में सिंगल विंडो क्लियरेंस सिस्टम स्थापित किया जाएगा। इसके साथ ही निर्माण सामग्री के परिवहन के लिए कमजोर व क्षतिग्रस्त सड़क पुलों को जल्द दुरुस्त किया जोगा। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में संबंधित विभाग को निर्देश जारी किए हैं। 

दिव्यांग व्हील चेयर से आस्था पथ से पहुंचेंगे केदारनाथ

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को कैम्प कार्यालय में ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने जिलाधिकारी पौड़ी, चमोली, टिहरी  और रुद्रप्रयाग को रेलवे के साथ समन्वय बनाकर हर प्रकार की प्रशासनिक सहायता उपलब्ध कराने को कहा है।

उन्होंने रेल लाइन से सम्बन्धित भूमि और मकान क्षतिपूर्ति व अन्य मामलों का निपटान के काम को भी प्राथमिकता के आधार पर जल्द से जल्द पूरा करने को कहा है। इसके लिए उन्होंने परियोजना से सम्बन्धित प्रत्येक जिले में सिंगल विंडो क्लियरेंस सिस्टम स्थापित करने के भी निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने लोनिवि को ब्यासी-नरकोटा रोड पुल निर्माण कार्य में तेजी लाते हुए समयबद्धता के साथ पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इससे रेलवे को भारी मशीनों के आवागमन हेतु काफी सहायता मिलेगी। 

साजिश के सूत्रधार तक पहुंच पाएगी भाजपा,सीएम के खिलाफ वायरल वीडियो को षड्यंत्र मान रही है पार्टी

भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा

रेल विकास निगम लिमिटेड के अधिकारियों द्वारा ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना की प्रगति की जानकारी देते हुए बताया गया कि फाइनल लोकेशन सर्वे पूर्ण किया जा चुका है। भूमि अधिग्रहण का कार्य भी पूरा किया जा चुका है। भूमि अधिग्रहण के मुआवजे का वितरण कार्य चल रहा है।

इसके लिए निर्गत 804.28 करोड़ रुपये के सापेक्ष 623.92 करोड़ रुपये वितरित किये जा चुके हैं। वीरभद्र व नया ऋषिकेश के मध्य परियोजना के पहले ब्लॉक का कार्य अवार्ड किया जा चुका है और फरवरी 2020 तक इसे पूरा किया जाना सम्भावित है। परियोजना के तहत 16 टनल के कार्य को 9 पैकेज में बांटा गया है।

इसी प्रकार लछमोली व श्रीनगर में अलकनंदा नदी पर आरओबी का कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है। वीरभद्र-न्यू ऋषिकेश ब्लॉक सेक्शन का काम 2019-20, न्यू ऋषिकेश-देवप्रयाग ब्लॉक सेक्शन का कार्य 2023-24 और देवप्रयाग-कर्णप्रयाग ब्लॉक सेक्शन का कार्य 2024-25 तक पूर्ण किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

दून जिला महिला मोर्चा के अध्यक्ष समेत चार कार्यकर्ता पार्टी से निष्कासित

चारधाम रेल मार्ग शीघ्र

रेल विकास निगम लिमिटेड के अधिकारियों द्वारा जानकारी दी गई कि उत्तराखण्ड के चारधाम यमुनोत्री, गंगोत्री, श्री केदारनाथ व श्री बद्रीनाथ को रेलवे सेवा से जोड़ने के लिए लगभग 327 किलोमीटर की कुल लम्बाई की 4 रेलवे लाइन अलाईनमेंट पर कार्य किया जाएगा।

इनमें अलाईनमेंट-1 में उत्तरकाशी- बड़कोट, अलाईनमेंट-2 में डोईवाला-मनेरी, अलाईनमेंट-3 में कर्णप्रयाग-सोनप्रयाग व अलाइनमेंट-4 में साईकोट-जोशीमठ रेलवे लाइन का निर्माण प्रस्तावित है। इस रेल प्रोजेक्ट में कुल 21 रेलवे स्टेशन व 61 टनल बनायी जाएंगी। बताया गया कि चारधाम रेल प्रोजेक्ट का जियो मैपिंग, हाईड्रोलॉजीकल स्टडी, ड्रॉन सर्वे व एनवायरमेंटल डेस्कटॉप स्टडी की जा चुकी है। इसका फाईनल लोकेशन सर्वे जनवरी 2020 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

comments

.
.
.
.
.