Monday, Mar 30, 2020
indian stock market sensex and nifty 23th march coronavirus covid19

कोरोना का कहर: 3900 अंक गिरकर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 8 हजार के नीचे

  • Updated on 3/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शेयर बाजार (Share Market) के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) में सोमवार को 3934.72 अंक गिरकर 25,981.24 अंकों पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी (Nifty) 7,945.70 पर बंद हुआ।

शुरुआती कारोबार के दौरान लगभग 3,000 अंकों की भारी गिरावट हुई। दुनिया भर में कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए की जा रही बंदी के चलते सेंसेक्स ने सुबह के सत्र में निचली सर्किट सीमा को छू लिया, जिसके कारण कारोबार को 45 मिनट के लिए बंद कर दिया गया। इस समय दुनिया भर में भारी मंदी की आशंकाएं जताई जा रही हैं। बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) सुबह के कारोबार में 2,718 अंक गिरकर खुला और उसके बाद यह 2,991.85 अंकों या 10 प्रतिशत की गिरावट के साथ 26,924.11 पर आ गया। इसी तरह एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) 842.45 अंक या 9.63 प्रतिशत गिरकर 7,903 पर आ गया।

कोरोना वायरस को लेकर बीमा कंपनियां एक्टिव, स्टारहेल्थ लाई स्पेशल बीमा

शेयर बाजार की स्वचालित व्यवस्था के अनुसार जब बाजार दोपहर एक बजे से पहले 10 प्रतिशत गिरता है, तो शेयर बाजारों में 45 मिनट के लिए कारोबार रुक जाता है। सुबह के कारोबार में सेंसेक्स के सभी घटक घाटे में कारोबार कर रहे थे। एक्सिस बैंक में 20 प्रतिशत तक गिरावट हुई। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, हीरो मोटोकॉर्प और एमएंडएम में भी तेज बिकवाली हुई। कारोबारियों के अनुसार भारत और दुनिया भर में सरकारों के बंदी की घोषणा से निवेशकों की धारणा में भारी दबाव आया।

कोरोना वायरस के चलते फिच ने घटाया भारत की वृद्धि का अनुमान, आगे भी बिगड़ सकते हैं हालात!

कोरोना वायरस महामारी के चलते शेयर बाजार में गिरावट
सेंसेक्स में सोमवार को शुरुआती सत्र के दौरान 2,700 अंकों से अधिक की गिरावट हुई। कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया भर में बंदी के बीच वैश्विक शेयरों में दबाव देखने को मिला और भारी मंदी की आशंकाओं को बल मिला। इस दौरान रुपया भी अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 92 पैसे लुढ़ककर 76.12 पर आ गया। बीएसई सेंसेक्स में 2,718 अंकों से अधिक की गिरावट के बाद थोड़ा सुधार देखने को मिला और खबर लिखे जाने तक सूचकांक 2,430.57 अंक या 8.12 प्रतिशत घटकर 27,485.39 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह एनएसई निफ्टी 682.35 अंक या 7.80 प्रतिशत की गिरावट के साथ 8,063.10 पर कारोबार कर रहा था।

कोरोना संक्रमण से बचाए अपने ऑफिस और फैक्ट्री को, अपनाएं ये आसान तरीके

सेंसेक्स के सभी घटक घाटे में कारोबार कर रहे थे। बजाज फाइनेंस के शेयर में 14 फीसदी की भारी गिरावट हुई। इसके अलावा एक्सिस बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईसीआईसीआई बैंक, मारुति और एमएंडएम में भी भारी बिकवाली हुई। इससे पहले शुक्रवार को पिछले सत्र में इक्विटी बाजारों में थोड़ी राहत देखने को मिली थी और सेंसेक्स 1,627.73 अंकों या 5.75 प्रतिशत बढ़कर 29,915.96 पर बंद हुआ था। निफ्टी 482 अंक या 5.83 प्रतिशत उछलकर 8,745.45 पर बंद हुआ था। कारोबारियों के अनुसार भारत और दुनिया भर में सरकारों के बंदी के निर्णय से निवेशकों की धारणा पर नकारात्मक असर हुआ।

कोरोना खौफ के बीच Income Tax अलर्ट, करोड़ों PAN Card हो जाएंगे यूजलेस, अगर...

इन शेयरों में आया उतार-चढ़ाव
भारत (India) में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के साथ केंद्र और राज्य सरकारों ने 75 जिलों को बंद करने का फैसला किया है। बाजार नियामक सेबी ने बाजार के तेज उतार-चढ़ाव को काबू में करने के लिए कुछ उपायों की घोषणा की, लेकिन फिलहाल बाजार पर इसका असर नहीं है। शेयर बाजार और नियामक अधिकारियों ने हालांकि महामारी के मद्देनजर कारोबार के घंटों को कम करने के सुझावों को खारिज कर दिया। इस दौरान शंघाई, हांगकांग और सियोल में प्रमुख सूचकांक चार फीसदी तक लुढ़के, जबकि टोक्यो लाभ के साथ कारोबार कर रहा था।

व्यापारियों ने कहा कि विदेशी निवेशकों की ओर से लगातार बिकवाली ने घरेलू प्रतिभागियों को जोखिम में डाल दिया है। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को सकल आधार पर 3,345.95 करोड़ रुपये की इक्विटी बेची। दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर तीन लाख से अधिक हो गई है और इससे 14,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में संक्रमण के मामले बढ़कर 390 तक पहुंच गए हैं।

comments

.
.
.
.
.