indo-pak-resolved-issues-donald-trump

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कश्मीर पर मध्यस्थता से की तौबा, कहा- भारत- पाक सुलझाए मसला

  • Updated on 8/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कश्मीर मसले पर भारत के खिलाफ पाकिस्तान को दुनिया के किसी देश का साथ न मिलता देख कर अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी पाला बदल लिया है। कश्मीर मामले पर मध्यस्थता करने से इनकार करते हुए ट्रंप ने कहा है कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच का मामला है और दोनों देश मिलकर इसे सुलझाएं।

कश्मीर मामले पर दुनियाभर से दुत्कारे जाने के बाद PAK कर रहा जंग जैसी तैयारी

हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आमेरिका यात्रा के दौरान खबर आई थी कि डोनल्ड ट्रंप कशमीर मामले पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने को तैयार हैं। हालांकि अमेरिका ने आधिकारिक बयान जारी कर इसका खंडन किया था। 

इसके कुछ दिनों बाद ही 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले प्रावधान से संबंधित धारा 370 को हटा दिया। 

अनुच्छेद 370 पर अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान, कोई देश नहीं दे रहा साथ

धारा 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान समर्थन  के लिए पूरी दुनिया में भटकता रहा है लेकिन अमेरिका सहित अधिकांश देशों ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताते हुए हस्तक्षेप से इनकार कर दिया। इसके बाद ट्रंप की ओर से ऐसा बयान आना साफ कर देता है कि अफगानिस्तान से सेना की वापसी और तालीबान से मध्यस्थता में पाकिस्तान की महत्वपूर्ण भूमिका होने के बावजूद कश्मीर मसले पर अमेरिका उसका साथ नही देगा।       

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.