Tuesday, Oct 26, 2021
-->
indo-singapore-workshop-on-cardio-vascular-disease-organized-in-jamia

जामिया में कार्डियो वैस्कुलर डिसीज पर आयोजित हुई इंडो-सिंगापुर कार्यशाला 

  • Updated on 10/11/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के जैव प्रौद्योगिकी विभाग ने शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग प्रोन्नति योजना, शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के तहत 5 दिवसीय इंडो-सिंगापुर कार्यशाला का आयोजन किया। जिसका विषय कार्डियो वैस्कुलर डिसीज : एन इनसाइट टू न्यू एडवांसेज एंड देयर ट्रांसलेशनल एप्लीकेशन था। इस कार्यशाला में कार्डियोवैस्कुलर जीव विज्ञान और चिकित्सा तथा उनकी ट्रांसलेशनल क्षमता मुख्य विषय थे। कार्यशाला का आयोजन कार्डियोवैस्कुलर एंड मेटाबोलिक डिसऑर्डर प्रोग्राम, ड्यूक एनयूएस मेडिकल स्कूल सिंगापुर के सहयोग से किया गया था। कार्यक्रम की संरक्षिका कुलपति प्रो. नजमा अख्तर रहीं व सलाहकार प्राकृतिक विज्ञान संकाय की डीन प्रो. सीमा फरहत बसीर थीं।
हेल्थकेयर स्टार्टअप इनक्यूबेशन प्रोग्राम के लिए चुने गए जामिया के छात्र

सीवीडी विश्वस्तर पर मृत्यु का प्रमुख कारण
इस कार्यशाला में आनुवंशिक, पर्यावरण, मनोवैज्ञानिक, आर्थिक, सामाजिक और विकासात्मक जैसे कई परस्पर संबंधित योगदान कारकों के साथ का कार्डियोवैस्कुलर डिसऑर्डर (सीवीडी) विश्वस्तर पर मृत्यु का प्रमुख कारण हैं। इंडो-सिंगापुर कार्यशाला ने नवीनतम प्रगति और सेल्युलर और मोलिक्युलर अपडेट के साथ कार्डियोवैस्कुलर बायोलॉजी के जोखिम कारकों पर प्रकाश डाला। सीवीडी, इन्फ्लेमेशन जीव विज्ञान, जीनोमिक्स एवं एपिजेनोमिक्स, बायोमार्कर डिस्कवरी और सीवीडी से संबंधित ओमिक्स-प्रौद्योगिकियों में नवीनतम चिकित्सीय हस्तक्षेपों पर विशेष ध्यान दिया गया।
मानसिक स्वास्थ्य पर देशव्यापि कार्यक्रम आवश्यक : डॉ साहा
कार्यशाला में 550 प्रतिभागियों ने किया पंजीकरण
कार्यशाला में 550 से अधिक की संख्या के पंजीकरण के साथ पूरे भारत से प्रतिभागियों ने भाग लिया। जामिया प्रशासन ने कहा कि हमारे उल्लेखनीय वैज्ञानिकों और चिकित्सकों की 5 दिनों की अवधि की बातचीत ने प्रत्येक वार्ता के बाद पैनलिस्ट सदस्यों के बीच विचार-मंथन और गहन चर्चा को प्रोत्साहित किया। इन प्रोडक्टिव बातचीत ने एक अनुकूल वातावरण तैयार किया जिसने कार्यशाला के प्रतिभागियों में सीखने के माहौल को बढ़ावा दिया। कार्यशाला के अंत तक प्रतिभागियों को सीवीडी के विभिन्न पहलुओं की बेहतर समझ विकसित हो सकी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.