Thursday, Mar 21, 2019

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में इंदौर ने फिर किया टॉप

  • Updated on 3/6/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोदी सरकार ने स्वच्छता को लेकर लोगों में जो जागरुकता फैलाई है, उसके परिणाम भी जमीन पर देखने को मिल रहे हैं। आज देश के तमाम शहरों और राज्यों में अपने आप को स्वच्छ बनाने की होड़ लग गई है।
स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के तहत देश के 100 स्वच्छ शहरों की सूची जारी की गई है।

इस सूची में इंदौर ने लगातार तीसरी बार टॉप किया है। देश की सबसे स्वच्छ राजधानियों में भोपाल ने टॉप किया है। तीन लाख से कम आबादी वाले सबसे स्वच्छ शहरों में एनडीएमसी दिल्ली ने बाजी मारी है। इसके अलावा दिल्ली कैंट भी सबसे स्वच्छ घोषित किया गया है। अगर गंगा टाउन में स्वच्छता की बात करें तो उत्तराखंड का गौचर शीर्ष पर रहा है।

राफेल से जुड़ी फाइलें गायब होने पर AAP का तंज- 'चौकीदार सो रहा था'

अगर उत्तर भारत के शहरों की बात करें तो हरियाणा के चार शहरों(करनाल, रोहतक, पंचकूला और गुड़गांव) ने स्वच्छता के मामले में अव्वल अंक प्राप्त किए हैं।  वहीं छोटे शहरों में तीर्थ नगरी उज्जैन ने टॉप किया है। स्वच्छा सर्वेक्षण 2019 के अनुसार छत्तीसगढ़, झारखंड और महाराष्ट्र ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है। देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश का कोई भी शहर इस लिस्ट में जगह नहीं बना पाया है, जोकि सबसे शर्मनाक बात है।

देश को महाशक्ति बनाने के लिये लोगों को बुनियादी सुविधाएं देना जरूरी- निर्मला सीतारमण

 राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने विज्ञान भवन में इसकी घोषणा की। राष्ट्रपति ने इंदौरवासियों को इसके लिए बधाई भी दी। राष्ट्रपति ने कहा कि नागरिकों के स्वभाव में स्वच्छता होनी चाहिए, स्वच्छता को जीवन का अभिन्न अंग बनाना होगा। सफाई को लेकर लोगों को जागरुक रहना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.