Wednesday, Dec 08, 2021
-->
intelligence-assessment-says-china-denies-burial-to-its-soldiers-prsgnt

चीनी सरकार अपनी गलती को छुपाने के लिए गलवान में मारे सैनिकों का नहीं होने दे रही अंतिम संस्कार

  • Updated on 7/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन भारत के प्रति नफरत रखता है और इसका इजहार वो गाहे-बगाहे अपनी हरकतों से करता रहता है लेकिन चीन अपने देश के सैनिकों से भी नफरत करते हैं, अगर ऐसा नहीं होता तो शायद गलवान की घाटी में मारे गये अपने सैनिकों के शवों का चीनी सरकार अंतिम संस्कार तो कम से कम करने देती! लेकिन नहीं, चीनी सरकार अपने ही मारे गये सैनिकों के प्रति काफी क्रूर है।

इस बारे में अमेरिकी खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट आई है जो यह बताती है कि चीनी सरकार अपने यहां के सैनिकों के परिवारों पर दबाव बना रही है कि वे शवयात्रा और अंतिम संस्कार जैसे समारोह न करें।

LAC पर क्यों पीछे हटी चीनी सेना? जानिए चीन के शांति स्थापित करने की मंशा के पीछे का सच!

बताते चले कि चीनी सरकार अपने सैनिकों के मारे जाने को लेकर अभी तक मना करती आई है लेकिन अब वो उनके शवों को दफनाने भी नहीं दे रही। साथ ही उनके परिवारों के साथ बुरा व्यवहार भी किया जा रहा है।

यूएस न्यूड की एक खबर की माने तो चीन इस बात को स्वीकार नहीं कर रहा है कि हिंसक झड़प के दौरान उसके सैनिक मारे गये थे, क्योंकि चीन इसे अपनी भूल मानता है और छुपाना चाहता हैं।

LAC पर दिखी वायुसेना की ताकत, चिनूक, मिग-29, अपाचे के साथ हुआ नाइट ऑपरेशन, देखें वीडियो

इस मामले की जानकारी रखने वाले सूत्र अमेरिका की एक न्यूज़ एजेंसी को बताया है कि
चीनी नागरिक मामलों के मंत्रालय ने झड़प में मारे गए सैनिकों के परिवारों से कहा है कि उन्हें अंतिम संस्कार नहीं करना चाहिए और न किसी भी तरह की शोक सभा आदि का आयोजन किसी एकांत इलाके में होना चाहिए।

इस बारे में चीनी सरकार ने परिवारों को कोरोना संक्रमण का हवाला दिया है। हालांकि ये तो चीनी सरकार अच्छे से जानती है कि वो अपनी गलवान की गलती को छुपाने के लिए ऐसा कर रही है।

यहां पढ़ें भारत-चीन विवाद से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.