Sunday, Jun 13, 2021
-->
Investigation of celebrities tweets farmers movement Fadnavis targeted Maharashtra govt rkdsnt

किसानों आंदोलन पर हस्तियों के ट्वीट की जांच : फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार पर साधा निशाना

  • Updated on 2/8/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को कहा कि राज्य का खुफिया विभाग कुछ हस्तियों पर किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट करने का दबाव डालने के आरोपों के संबंध में जांच करेगा। देशमुख के इस बयान के बाद भाजपा ने शिवसेना नेतृत्व वाली सरकार पर तीखा हमला किया। भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस कदम को ‘‘घृणास्पद और अत्यंत निंदनीय बताया और कहा कि सत्तारूढ़ महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार को भारत रत्न विजेताओं के लिए ‘‘जांच’’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए र्शिमंदगी महसूस होना चाहिए। 

कांग्रेस का आरोप- मोदी सरकार ने किसानों के खिलाफ जंग छेड़ देश की इमेज बिगाड़ी 

उन्होंने कहा ऐसा लगता है कि उन सबकी ‘‘मानसिक हालत’’ की जांच होनी चाहिए जिन्होंने इस जांच की मांग की है और इसका आदेश दिया है। फडणवीस ने ट्वीट किया, ‘‘क्या यह एमवीए सरकार सारा विवेक खो चुकी है? एमवीए को भारत रत्न विजेताओं के लिए जांच शब्द के इस्तेमाल पर शर्मसार होना चाहिए। भारत रत्न विजेताओं के खिलाफ इस तरह की मांग और ऐसे आदेश देने वालों के मानसिक स्वास्थ्य की जांच कराने की जरूरत है।’’ 

किसान आंदोलन पर सचिन समेत मशहूर हस्तियों के ट्वीट मामले की जांच करेगी ठाकरे सरकार

दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग और पॉप स्टार रिहाना के टवीट के बाद पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और गायिका लता मंगेशकर समेत कई हस्तियों ने सोशल मीडिया पर सरकार के समर्थन वाले हैशटेग के साथ जवाबी ट्वीट किए थे। तेंदुलकर और मंगेशकर भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से विभूषित हैं। 

पीएम मोदी के निमंत्रण के बाद किसान नेताओं ने सरकार से वार्ता की तारीख तय करने को कहा

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने शिवसेना नेतृत्व वाली सरकार पर परोक्ष हमला करते हुए कहा, ‘‘आपका मराठी गौरव अब कहां गया? आपका महाराष्ट्र धर्म अब कहां है? देश के लिए एकजुट होने वाले ‘भारत रत्न’ के खिलाफ जांच का आदेश देने वाले ऐसे ‘रत्न’ हमें देश भर में नहीं मिलेंगे।’’ इससे पहले दिन में, देशमुख ने कहा कि राज्य का खुफिया विभाग कुछ हस्तियों पर किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट करने का दबाव डालने के आरोपों के संबंध में जांच करेगा। 

मोदी सरकार ने दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने से जुड़ा बिल RS में किया पेश

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता देशमुख ने एक ऑनलाइन बैठक के दौरान राज्य सरकार के सहयोगी दल कांग्रेस की तरफ से उठाई गई मांग के संबंध में यह टिप्पणी की। महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने फडणवीस पर पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा जानबूझकर मुद्दे को भटकाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ट््वीट के संबंध में ‘‘भाजपा की जांच की मांग की है हस्तियों की नहीं।’’ 

सावंत ने ट्वीट किया, ‘‘भाजपा अक्षय कुमार और सायना नेहवाल के एक समान ट्वीट पर चुप क्यों है? सुनील शेट्टी  ने एक ट्वीट में भाजपा के एक पदाधिकारी को टैग क्यों किया ? भाजपा जांच से क्यों घबरा रही है।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस का सवाल है कि कहीं दोनों हस्तियों ने एक ही तरह के ट््वीट एक साथ किसी दबाव में तो नहीं किए?

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.