Sunday, Aug 14, 2022
-->
irrfan khan life story aljwnt

साधारण कद-काठी का शानदार अभिनेता, जिसने अभिनय के हर पहलू को जिया

  • Updated on 4/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  फिल्मों में अपनी खास तरह की संवाद शैली के लिए पहचाने जाने वाले अभिनेता इरफान खान दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके अभिनय की दीवानगी उनके चाहने वालों पर सिर चढ़कर बोलती है। कहते हैं कि एक्टिंग में सबसे अहम रोल आंखों का होता है। एक शानदार कलाकार वही है जिसे अपनी आंखों से संवाद करना आता हो और इरफान को तो यह कला जन्म से ही मिली हुई थी। बॉलीवुड में तो यहां तक कहा जाता है कि उनकी आंखों के लिए खास तरह के संवाद लिखे जाते थे।

बॉलीवुड में इरफान ने जिस मुकाम को हासिल किया एक सामान्य पृष्ठभूमि से आये हुए व्यक्ति के लिए उस मुकाम पर पहुंचना आसान नहीं होता। लेकिन अपने बेजोड़ अभिनय के दम पर इरफान सारी बाधाओं को पार करते चले गए। भले ही इरफान आज उन अभिनेताओं की जमात में शामिल न हों जिनकी फिल्में 100 करोड़, 200 करोड़ का आंकड़ा छूती हैं, लेकिन जब बात एक्टिंग की आती है तो उनका कोई सानी नहीं। उनकी पहली फिल्म सलाम बॉम्बे थी, जिसमें उन्होंने छोटा सा रोल अदा किया था।

Navodayatimesइरफान के अभिनय का कायल सिर्फ बॉलीवड ही नहीं रहा उन्होंने हॉलीवुड की कई फिल्मों में दमदार भूमिका निभाई।इरफान का फिल्मी करियर शानदार रहा। वैसे तो इरफान की प्रत्येक फिल्म अपने आप में शानदार होतीं थीं, लेकिन पान सिंह तोमर, द लंचबॉक्स,  तलवार,  हिंदी मीडियम,  मकबूल, स्लमडॉग मिलेनियर, लाइफ ऑफ पाई, मुंबई मेरी जान, साहेब बीवी और गैंगस्टर रिटर्नस उनकी यादगार फिल्में हैं।

Navodayatimes

भले ही आज इरफान हमारे बीच नहीं है, लेकिन इसका एहसास करने में बॉलीवुड के साथ-साथ उनके प्रशंसकों को भी लंबा वक्त लगेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.