क्या 2022 के यूपी विधानसभा की सीएम कैंडिडेट हो सकती हैं प्रियंका गांधी?

  • Updated on 2/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  उत्तर प्रदेश में बदलाव की आंधी का वादा करते हुए प्रियंका गांधी आज लखनऊ में रोड शो करने वाली हैं। सियासत की पिच पर नई खिलाड़ी के तौर पर देखा जा रहा प्रियंका गांधी के सहारे यूपी में खोई हुई पहचान को दोबारा पाने की कवायद बताई जा रही है। 2017 के यूपी विधानसभा चुनावों में 403 में से सिर्फ 7 सीटों पर सिमटी कांग्रेस के लिए प्रियंका संजीवनी का काम करेगी, ऐसा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मनना है। 

'आ गई बदलाव की आंधी, राहुल संग प्रियंका गांधी', स्वागत में दुल्हन की तरह सजा लखनऊ

क्या हो सकती है सीएम कैंडिडेट?

प्रियंका आज अपना रोड शो करेगी और शाम तक एक प्रेस कॉफेंस करेंगी। ऐसे में कहीं -कहीं सुगबुगाहट है कि प्रियंका को इसतरह से यूपी की कमान देना 2022 में उन्हें सीएम केंडिडेट के तौर पर देखा जा रहा है। 

2019 में होने वाले चुनावों में राहुल गांधी पीएम कैंडिडेट के तौर पर उतरें हैं लेकिन प्रियंका को लेकर अभी भी असंमजस बना हुआ है। पार्टी के अंदर ही प्रियंका को लेकर कई तरह की बातें उठती रही हैं। 2017 में ही कांग्रेस की तरफ से प्रियंका को चुनाव  में उतारने की बात हो रही थी। लेकिन ऐसा हो ना सका। पार्टी लाइन में ऐसे कई नेता हैं जो प्रियंका को राहुल से बेहतर पीएम कैंडिडेट मानते हैं। लेकिन ऐसा भी होता नहीं दिख रहा। 

Navodayatimes

नई खिलाड़ी या फिर पढ़ा है राजनीति का 'ककहरा'?

बहरहाल प्रियंका की 2019 से ठीक पहले यूपी में एंट्री बताती है कि उन्हें 2022 के यूपी चुनावों में कांग्रेस के सीएम कैंडिडेट के तौर पर उतारा जा सकता है। कांग्रेस अब समूचे यूपी में प्रियंका गांधी वाड्रा को कोर फेस के तौर पर रिप्रेजेंट किया जा रहा है। साथ ही प्रियंका के आने से कार्यकर्ताओं में खास उत्साह है और इसक असर यूपी की सड़कों पर प्रियंका के नाम पर लगे पोस्टरों में साफ देखा जा सकता है। 

आज यूपी में हुंकार भरेंगी प्रियंका, बोलीं- 'आइए, एक नये भविष्य का निर्माण करें'

जिसतरह से प्रियंका गांधी को नई खिलाड़ी के तौर पर पेश किया जा रहा है वैसा है नहीं। सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र से प्रियंका पहले भी मां के साथ प्रबंधन देखती रही हैं और कहा जाता है कि पार्टी को लेकर होने वाले कई बड़े फैसलों में वो शरीक रही हैं। पहले से ही प्रियंका को राजनीति में कई तरह की भूमिकाएं देते रहे हैं। इस हिसाब से प्रियंका को राजनीति में पूरी तरह से नया नहीं कह सकते हैं। लेकिन इस बार जिसतरह से प्रियंका मैदान में मोदी के खिलाफ उतर रही है उससे साफ हैं कि आगे चलकल प्रियंका को यूपी की कमान पूरी तरह से दी जा सकती है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.