Friday, May 07, 2021
-->
it-dept-raid-at-kailash-gahlot-total-seizure-is-worth-rs-2-crore-of-jewellery

आयकर विभाग का बड़ा खुलासा, कैलाश गहलोत के घर से सीज की गई 2 करोड़ से अधिक की ज्वेलरी

  • Updated on 10/25/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत पर इन दिनों आयकर विभाग की गाज गिरी हुई है, जिसके कारण उनकी मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं।

आयकर विभाग द्वारा दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से जुड़े ठिकानों पर छापेमारी में पाए गए दस्तावेज बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी का संकेत दे रहे हैं।

आलोक वर्मा के घर के बाहर से चार संदिग्ध गिरफ्तार, पुलिस कर रही पूछताछ

आयकर विभाग के अधिकारियों का मानना है कि गहलोत ने जिस स्तर पर लेन-देन किया है, उससे लगभग 120 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की गई है। इसी बीच आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक, 28 लाख रुपये की कीमत की ज्वेलरी भी गहलोत के लॉकर से सीज की गई है। कुल मिलाकर 2 करोड़ 37 लाख रुपये तक की नकदी और ज्वेलरी को सीज किया जा चुका है।

पंजाब सरकार के मंत्री की महिला अफसर के साथ शर्मनाक हरकत, विपक्ष ने मांगा इस्तीफा

आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि गहलोत और उनके संबंधियों के ठिकानों से बरामद दस्तावेजों की जांच पड़ताल चल रही थी। इन दस्तावेजों से पता चलता है कि ऑफिस के चपरासी से लेकर कई कर्मचारियों को कर्ज दिया गया और शेल कंपनियों में उन्हें हिस्सेदारी दी गई। इसके अलावा कुछ ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं, जिससे पता चलता है कि जनरल पावर ऑफ अटॉर्नी के माध्यम से अचल संपत्तियों में निवेश किया गया है। 

INX मीडिया मामले में पी. चिदंबरम को HC से मिली बड़ी राहत, 29 नवंबर तक गिरफ्तारी पर रोक

बता दें कि आयकर विभाग ने पिछले दिनों राजधानी दिल्ली और गुरुग्राम में गहलोत से संबंधित में 16 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

आयकर विभाग की इस छापेमारी से नाराज होकर सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए ट्विट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा कि नीरव मोदी, माल्या से दोस्ती और हम पर रेड? मोदी जी, आपने मुझ पे, सत्येन्द्र पे और मनीष पे भी रेड करवाई थी? उनका क्या हुआ? कुछ मिला? तो अगली रेड करने के पहले दिल्ली वालों से उनकी चुनी सरकार को निरंतर परेशान करने के लिए माफी तो मांग लिजिए?

गौरतलब है कि कैलाश गहलोत का इससे पहले भी विवादों से नाता रहा है। इससे पहले उनपर आचार सहिंता के उल्लंघन का मामला चल रहा था, जिसमें चुनाव आयोग ने उनपर एफआईआर दर्ज की थी। हालांकि, बाद में उन्हें कोर्ट से राहत मिल गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.