Friday, Dec 09, 2022
-->
it-is-important-to-understand-relationship-planning-in-a-scientific-way-prof-verma

लेशन प्लानिंग को वैज्ञानिक तरीके से समझना जरूरी : प्रो. वर्मा

  • Updated on 4/25/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। टीचिंग-लर्निंग के क्षेत्र में हो रहे नए-नए अनुप्रयोगों को समझना भी एक कला है जिसे वैज्ञानिक तरीके से समझने की कोशिश की जानी चाहिए। उक्त बातें गुरू गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी (आईपीयू) के कुलपति पद्मश्री प्रो. (डॉ.) महेश वर्मा ने आईपीयू के स्कूल ऑफ एजुकेशन की डीन प्रो. संगीता चौहान द्वारा संपादित पुस्तक टेक्नोलॉजी ऑफ लेशन प्लानिंग के लोकार्पण के दौरान कहीं। पुस्तक का लोकार्पण यूनिवर्सिटी में आयोजित एक कार्यक्रम में किया गया। 
सफदरजंग फ्लाईओवर पर दिखेगें अब 75 स्वतंत्रता सेनानियों के चित्र
 

शिक्षा के क्षेत्र में नूतन प्रयोगों को समझाती है पुस्तक
इस अवसर पर प्रो. चौहान ने कहा कि यह पुस्तक कोरोना के बाद शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे नूतन प्रयोगों की समझने की दिशा में मिल का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि सीखने-सिखाने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए यह जरूरी है कि वैज्ञानिक और मनोवैज्ञानिक तरीकों का समावेश हो। लेशन प्लानिंग के द्वारा कंटेंट को आकर्षक बनाया जा सकता है और छात्रों में पढऩे की अभिरूचि बढ़ाई जा सकती है। इसमें तर्क, परिचर्चा जैसे एलिमेंट्स का समावेश कर आकर्षक बनाया जाए। बता दें कि इस पुस्तक में यह कोशिश की गयी है कि एजुकेशन को इक्स्पेरिमेंटल होलिस्टिक, खोजपरक बनाया जाए। 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.