Monday, Oct 22, 2018

दिल्ली में कैलाश गहलोत पर छापे : AAP ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

  • Updated on 10/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली में केजरीवाल सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत के घर पर आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया है। पार्टी ने इस कार्रवाई को केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग बताते हुए कहा है कि मोदी सरकार AAP को डराने के लिए अपनी एजेंसियों का इस्तेमाल करती है। 

गुजरात में कानून-व्यवस्था बहाल नहीं हो तो लगे राष्ट्रपति शासन : कांग्रेस

भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ गुमनाम शिकायतों पर नहीं होगी कार्रवाई

AAP की प्रवक्ता आतिशी ने मीडिया को बताया, "गहलोत के घर और कुछ निजी प्रतिष्ठानों सहित 15 से 16 स्थानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है। AAP नेताओं, विधायकों और मंत्रियों के खिलाफ केन्द्रीय एजेंसियों की छापेमारी की यह पहली घटना नहीं है। पिछले घटनाक्रम से साफ है कि मोदी सरकार अपनी सभी एजेंसियों का उपयोग आप को डराने के लिए करती है।'

यौन उत्पीड़न के आरोप झेल रहे मंत्री एमजे अकबर को कांग्रेस ने लिया आड़े हाथ

आतिशी ने कहा कि इससे पहले सीबीआई ने दिसंबर 2015 में मुख्यमंत्री कार्यालय में, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर जून 2017 में तथा मंत्री सत्येन्द्र जैन के घर और कार्यालय में 30 मई तथा इससे पहले भी कई बार छापेमारी हुई। AAP के 28 विधायकों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने विभिन्न मामले दर्ज किए। उन्होंने कहा कि AAP शायद देश की इकलौती पार्टी होगी, जिसे लगभग दूसरे दिन आयकर विभाग का नोटिस थमा दिया जाता है। 

मालीवाल ने आलोक नाथ को लिया आड़े हाथ, नंदा ने लगाया था दुष्कर्म का आरोप

AAP प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी नेता इन मामलों में एक एक कर कोर्ट से निर्दोष साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन मामलों की कोर्ट जांच में सीबीआई से लेकर प्रवर्तन निदेशालय सहित अन्य केन्द्रीय एजेंसियों को न्यायालय की फटकार भी सुननी पड़ती है। इससे साफ है कि मोदी सरकार अपनी एजेंसियों का AAP के खिलाफ दुरुपयोग कर रही है।  

गुजरात में प्रवासी श्रमिकों पर हमले को लेकर केजरीवाल की PM मोदी से अपील

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले को लेकर PM मोदी के खिलाफ फूटा गुस्सा

इसकी वजह बताते हुए आतिशी ने कहा कि लाभ के पद के मामले में AAP के 20 विधायकों के खिलाफ चुनाव आयोग में चल रही सुनवाई में गहलोत पार्टी विधायकों का नेतृत्व कर रहे हैं। इसलिए इस बार गहलोत मोदी सरकार के निशाने पर आ गए हैं।  इसके अलावा दिल्ली के लोगों को घर बैठे सरकारी सुविधाएं पहुंचाने की योजना को गहलोत प्रशासनिक सुधार विभाग के जरिए कारगर बनाने में लगे है। उन्होंने कहा कि इस योजना को कामयाब बनाने से रोकने के लिए गहलोत को निशाना बनाया जा रह है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.