Sunday, Feb 05, 2023
-->
Jai Shah Jay shah did not hold Tiranga opposition leaders take class

जय शाह ने नहीं थामा तिरंगा, विपक्षी नेताओं ने लगाई क्लास

  • Updated on 8/29/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विपक्षी नेताओं ने दुबई में हुए एशिया कप क्रिकेट मैच में पाकिस्तान पर भारत की जीत के बाद तिरंगा नहीं पकडऩे के लिए बीसीसीआई के सचिव जय शाह पर निशाना साधा है। हालांकि शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने शाह का बचाव करते हुए ट््वीट किया, 'एसीसी (एशियन क्रिकेट काउंसिल) के अध्यक्ष के तौर पर तटस्थ रहना किसी भी तरह से राष्ट्रध्वज का अपमान करना नहीं है। लिहाजा ट्रोल्स अपना काम करें।’’ इससे कुछ मिनट पहले चतुर्वेदी ने ही इस मामले पर ट््वीट करके शाह पर निशाना साधा था।   

अडाणी समूह की 10 साल में 1,000 मेगावॉट के डाटा केंद्र खोलने की योजना 

  उन्होंने लिखा था, च्च्हाथ में हो तिरंगा - हमारे संकल्प और देश के लिए निष्ठा का प्रतीक है। इस तरीके से तिरंगे को झटकना... यह देश की 133 करोड़ आबादी का अपमान है।’’ कांग्रेस के कई नेताओं ने इस मामले पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह पर निशाना साधा है।  कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट््वीट किया, च्च्मेरे पास पापा हैं, झंडा अपने पास रखो।’’ रमेश ने अपने इस ट््वीट के साथ मामले से संबंधित वीडियो साझा किया और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को टैग किया। कांग्रेस के एक और नेता अजॉय कुमार ने वीडियो के साथ ट््वीट किया, च्च्लगता है तिरंगा खादी का था...पॉलिस्टर का नहीं।’’  कांग्रेस ध्वज संहिता में संशोधन की कड़ी आलोचना कर रही है, जिसके तहत अब राष्ट्रीय ध्वज को पॉलिस्टर के कपड़े और मशीनों की मदद से बनाया जा सकता है।   

गुजरात में ‘आप’ का चुनाव अभियान भाजपा के खिलाफ जन आंदोलन में तब्दील हो गया है : केजरीवाल

  तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के महासचिव अभिषेक बनर्जी ने वीडियो टैग करते हुए लिखा, च्च् जय शाह का राष्ट्रीय ध्वज नहीं थामना सरकार के बड़े पाखंड का लक्षण है। वे केवल नाटकबाजी में लगे रहते हैं। उनके पास मूल्यों की कमी है, लेकिन जुमलेबाजी में वे माहिर हैं।’’ टीएमसी के प्रवक्ता साकेत गोखले ने कहा कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तर्क दिया है कि जय शाह ने रविवार की रात को तिरंगा इसलिए नहीं थामा क्योंकि वह एसीसी अध्यक्ष के रूप में वहां थे और प्रोटोकॉल का पालन कर रहे थे।  गोखले ने कहा, 'यही भाजपा पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के पीछे पड़ गई थी जब उन्होंने (प्रोटोकॉल के अनुसार) गणतंत्र दिवस परेड के दौरान राष्ट्रध्वज को सलामी नहीं दी थी।’’   

आजाद का डीएनए ‘मोदी-मय’ हुआ, पार्टी के साथ धोखा किया: कांग्रेस 

उपराज्यपाल के खिलाफ जांच की मांग को लेकर आप विधायक रात भर दिल्ली विधानसभा परिसर में रहेंगे: सूत्र नयी दिल्ली, 29 अगस्त (भाषा) खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष पद पर रहने के दौरान कथित रूप से प्रतिबंधित नोट बदलने के मामले में उपराज्यपाल वी के सक्सेना के खिलाफ जांच की मांग को लेकर आदमी पार्टी (आप) के विधायक रात भर दिल्ली विधानसभा परिसर में रुकेंगे। सूत्रों ने यह बात कही। आप विधायक दुर्गेश पाठक ने सोमवार को विधानसभा में आरोप लगाया कि सक्सेना ने 2016 में खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) का अध्यक्ष रहने के दौरान अपने कर्मचारियों पर 1400 करोड़ रुपये मूल्य के पुराने नोट बदलने के लिए दबाव डाला था।      पार्टी के एक सूत्र ने कहा, ‘‘हम विरोध में दिल्ली विधानसभा में रात भर रुकने और उपराज्यपाल के खिलाफ जांच की मांग करने जा रहे हैं।’’      इससे पहले दिन में, पाठक ने भी कथित घोटाले की जांच की मांग की।     

comments

.
.
.
.
.