Monday, May 10, 2021
-->
jailed-rape-murder-dera-sacha-sauda-chief-gurmeet-ram-rahim-got-days-parole-secretly-prsgnt

BJP नेताओं के कहने पर मनोहर लाल खट्टर ने राम रहीम को गुपचुप दी पैरोल, रोहतक से पहुंचाया गुरुग्राम

  • Updated on 11/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रोहतक की सुनारियां जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को हरियाणा सरकार की मदद से एक दिन की पैरोल मिली है। इस बारे में ‘द टाइम्स ऑफ इंडियन’ की एक रिपोर्ट दावा करती है कि राम रहीम को 24 अक्टूबर को पैरोल दी गई थी। 

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या  और दो साध्वियों से दुष्ककर्म के मामले में जेल की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम को भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेताओं के निर्देश के बाद पैरोल दी गई थी। इस बारे में एक रिपोर्ट समाने आई है जो बताती है कि हरियाणा सीएम ने गुपचुप तरीके से राम रहीम को पैरोल दी थी। 

दिवाली पर सामान के बहिष्कार से चीन को भारी नुकसान, भारत पर निकाल रहा ऐसे भड़ास

अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार राम रहीम को पैरोल देने के मामले में सिर्फ सीएम मनोहर लाल खट्टर और हरियाणा सरकार के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों को ही जानकारी थी। ये काम इतना गुपचुप तरीके से किया गया कि राम रहीम को ले जाने वाले जवानों को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि वो क्यों अचानक राम रहीम को बाहर ले जा रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि राम रहीम को अपनी बीमार मां से मिलने के लिए एक दिन का पैरोल दिया गया था। राम रहीम की मां गुरुग्राम के एक हॉस्पिटल में एडमिट हैं। मां से मिलाने के लिए डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख को सुनारिया जेल से गुरुग्राम हॉस्पिटल  तक भारी सुरक्षा के बीच ले जाया गया।

बिहार चुनाव 2020 Live: सुबह 9 बजे तक 8% वोटिंग, मंत्री सुरेश शर्मा ने किया मतदान

बताया जा रहा है कि एक दिन के पैरोल पर बाहर आए राम रहीम 24 अक्टूबर को अस्पताल में अपनी बीमार मां के साथ शाम तक रहे। अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार, जिस वक़्त राम रहीम अपनी मां के साथ हॉस्पिटल में रहे तब तक हरियाणा पुलिस की तीन टुकड़ियां वहां तैनात थी। हर एक टुकड़ी में 80 से 100 जवान थे। राम रहीम को जेल से पुलिस की बंद गाड़ी में लाया गया था। इस गाड़ी में पर्दे भी लगे हुए थे। जिससे उन्हें कोई देख न सके। इस बारे में किसी को भी खबर नहीं लग पाई थी। बता दें इससे पहले राम रहीम दो बार पैरोल की अर्जी दे चुके हैं और फिर वापस भी ले चुके हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.