Wednesday, Apr 01, 2020
jamia millia islamia sit delhi police cctv

हिंसा के वीडियो वायरल होने के बाद SIT टीम जांच के लिए जामिया पहुंची

  • Updated on 2/18/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में हिंसा से जुड़ी वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस (Delhi police) की एसआईटी (SIT) जांच करने के लिए जामिया पहुंच गई है। यह टीम पिछले कुछ दिनों से वायरल हो रही सीसीटीवी (CCTV) फुटेज से जुड़ी घटनाओं की सच्चाई पता लगाने के लिए जामिया गई है। इस  टीम के साथ टीम के प्रमुख राजेश देव भी शामिल हैं। 
CAA-NRC के खिलाफ है केजरीवाल की आम आदमी पार्टी- प्रशांत किशोर
 


सोशल मीडिया पर वीडियो हुईं वायरल
बता दें कुछ दिनों से जामिया विश्वविद्यालय से जुड़ी कुछ वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रही थी, जिनमें पुलिस की छात्रों से मारपीट के साथ छात्रों के हाथों में भी पत्थर देखने को मिले थे। जिसके बाद मांग की जा रही थी कि इन वीडियो की सच्चाई का पता लगाया जा सके। अधिकारियों ने कहा कि टीम के सदस्यों ने पुस्तकालय को हुए नुकसान का विश्लेषण और वीडियोग्राफी की। उन्होंने प्रॉक्टर कार्यालय का भी दौरा किया। मामले की जांच अपराध शाखा कर रही है।     
फडणवीस मामले में कोर्ट ने पुनर्विचार याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा

पुलिसवाले पीटते दिखे
रविवार को सामने आई वीडियो (Video) में पुलिसकर्मियों को पुस्तकालय में छात्रों को पीटते हुए देखा जा सकता है। इसके कुछ घंटे बाद सामने आई दो वीडियो में कुछ नकाबपोश युवक पुस्तकालय में घुसते दिख रहे हैं। सोमवार को सामने आए वीडियो में पुलिसकर्मियो को भागने का प्रयास करते छात्रों पर लाठियां बरसाते देखा जा सकता है। महिला छात्रों को पुलिस से गुहार लगाते हुए बाहर निकलते देखा जा सकता है और एक पुलिसकर्मी कैमरा तोड़ते हुए दिखाई देता है।     
जामिया हिंसा: शरजील को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, 17 लोग गिरफ्तार

सीएए के खिलाफ हुआ था प्रदर्शन
पिछले साल 15 दिसंबर को संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया था। पुलिस ने कहा था कि वह दंगाइयों का पीछा करते हुए विश्वविद्यालय में घुसी थी। वहीं जामिया के छात्रों ने ङ्क्षहसा में किसी तरह का हाथ होने से इनकार करते हुए पुलिस पर बर्बरता का आरोप लगाया था।  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.