Sunday, Jun 13, 2021
-->
jammu and kashmir omar abdullah released today after 7 months of house arrest

नजरबंदी से रिहाई के बाद बोले उमर अब्दुल्ला, जिंदगी और मौत की लड़ रहे हैं जंग

  • Updated on 3/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) पर पिछले सात महीनों से लगाई गई सारी पाबंदी मंगलवार को हटा दी गई है। राज्य प्रशासन ने आज उन पर लगाई गई सभी नजरबंदी हटाने का फैसला किया है। इसी के साथ उमर आज से रिहा हो गए हैं। अब्दुल्ला घाटी से अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के समय से ही नजरबंद थे।

नजरबंदी से रिहा होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कहा कि आज मुझे इसका अहसास हुआ कि हम जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं। आज मैं यहां से एक पैगाम सभी तक पहुंचाना चाहता हूं कि हमसबको सामजिक दूरी रखनी  चाहिए। ये दूरियां हम सभी के लिए फायदेमंद साबित होगी।  इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस हालात में केंद्र को कहा कि अभी भी कुछ लोग नजरबंद हैं चाहे महबूबा मुफ्ती हो या मेरे नेशनल कॉन्फ्रेंस के लोग उन सभी को उनके परिवार के पास वापिस भेज देना चाहिए और हमें हमारा 3जी और 4जी भी वापिस कर देना चाहिए। 

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जिस तरह जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में तोड़ा गया। कैसे बच्चे दो महीने स्कूल नहीं गए, दुकानदार कमाई नहीं कर पाए। 5 अगस्त 2019 के बाद जो भी हुआ मैं उसपर बाद में बात करूंगा।

बता दें कि उमर की बहन सारा अब्दुल्ला पायलट (Sara Abdullah Pilot) ने जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत उनकी हिरासत को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का रुख किया था। 

जम्मू-कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला की रिहाई लोकतांत्रिक प्रक्रिया शुरू करने की दिशा में कदम

उमर-महबूबा पर लगा PSA
बता दें कि उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) की 6 महीने की 'एहतियातन हिरासत' पूरी होने से महज कुछ घंटे पहले ही उनके खिलाफ जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

उमर अब्दुल्ला पर PSA लगाने को लेकर SC ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन को भेजा नोटिस

केंद्र सरकार ने फारुख अब्दुल्ला को किया था रिहा
गौरतलब है कि केंद्र सरकार (Central Government) ने हाल हीं में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) की नजरबंदी को खत्म कर दिया है। रिहा होने के बाद फारुख सबसे पहले अपने बैटे उमर अब्दुल्ला से मिले थे। 

उमर अब्दुल्ला पर PSA लगाने का मामला पहुंचा SC, बहन ने दाखिल की याचिका

महबूबा मुफ्ती अभी भी नजरबंद
नजरबंद से रिहा होनें के बाद पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि मैं आजाद हूं, उम्मीद है कि सभी नेताओं की नजरबंदी जल्द खत्म होगी। लेकिन पीडीपी (PDP) चीफ महबूबा मुफ्ती नजरबंदी आगे भी जारी रहेगी। आपको बता दें कि विपक्ष ने सियासी दलों की नजरबंदी पर कई बार सवाल उठा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.