Thursday, Mar 30, 2023
-->
jammu kashmir 177 teachers transferred in valley amid rising target killings kmbsnt

J&K: बढ़ती टारगेट किलिंग के बीच घाटी में 177 शिक्षकों का ट्रांस्फर

  • Updated on 6/4/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू कश्मीर में बढ़ती टारगेट किलिंग के बीच कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा के लिए प्रशासन की ओर से एक बड़ा कदम उठाया गया है। श्रीनगर के विभिन्न इलाकों में तैनात कश्मीरी पंडितों का जिला मुख्यालाय में ट्रांस्फर कर दिया गया है। इस बात की जानकारी श्रीनगर के चीफ एजुकेशन ऑफिर ने एक पत्र जारी कर दी है।

शुक्रवार को गृहमंत्री अमित शाह ने घाटी की स्थिति पर चर्चा के लिए एक अहम बैठक की थी। इस बैठक में एलजी मनोज सिन्हा, एनएसए अजीत डोभाल, जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह और अन्य आला अधिकारी मौजूद थे। 

जम्मू कश्मीर में आतंकी गतिविधियां लगातार बढ़ती नजर आ रही है। वहीं आए दिन टारगेट किलिंग की घटनाओं से घाटी में डर का माहौल बना हुआ है। कश्मीरी पंडितों ने बढ़ती टारगेट किलिंग के खिलाफ सामूहिक पलायन की बात कही है। बीते 26 दिनों में आतंकी 10 लोगों की हत्या कर चुके हैं। गुरुवार को कुलगाम में ड्यूटी पर तैनात बैंक मैनेजर की हत्या कर दी गई।

इस हत्या की जिम्मेदारी कशामीर फ्रीडम फाइटर्स नाम के संगठन ने ली है। इस संगठन के प्रवक्ता वसीम मीर ने एक बयान जारी किया है। इसमें धमकी देते हुए उसने कहा है कि कश्मीर की आबादी में फेरबदल की कोशिश का यही हश्र होगा। 

लोगों का कहना है कि कश्मीर घाटी में लक्षित हत्याओं के कारण पीएम पैकेज के तहत कश्मीरी पंडितों को जम्मू जाना पड़ा। आज का कश्मीर 1990 के दशक से भी ज्यादा खतरनाक है। सबसे बड़ा सवाल यह है कि हमारे लोगों को हमारी कॉलोनियों में क्यों बंद कर दिया गया। प्रशासन अपनी विफलता क्यों छिपा रहा है?

पीएम पैकेज के तहत एक कर्मचारी अमित कौल ने कहा कि स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। 30-40 परिवार शहर छोड़कर जा चुके हैं। हमारी मांग पूरी नहीं हुई। उनके (सरकार के) सुरक्षित स्थान केवल शहर के भीतर हैं, श्रीनगर में कोई सुरक्षित स्थान उपलब्ध नहीं है। 

comments

.
.
.
.
.