Monday, Nov 28, 2022
-->
jammu kashmir 370 india''''s internal issue, we are together against terror eu mps

370 भारत का आंतरिक मसला, आतंक के खिलाफ हम है साथ: EU सांसद

  • Updated on 10/30/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) दौरे पर आए यूरोपीय सांसदों (European MPs) के दल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press conference) में कहा कि जम्मू-कश्मीर में हम हालात की जानकारी लेने आए थे। और हमारे दौरे को राजनितिक नजर से देखा जा रहा है। जो कि ठिक नहीं है। भारत एक शांतिप्रिय देश है। इन सांसदों ने कहा कि अनुच्छेद 370 भारत का आंतरिक मसला है।

EU सांसदों के J&K दौरे के खिलाफ राहुल-प्रियंका ने संभाला मोर्चा, कहा- हमारे जाने पर बैन क्यूं

ओवैसी के बात का दिया जवाब
प्रेस कॉन्फ्रेंस में ईयू सांसदों ने कहा कि हम नाजी लवर्स नहीं है। अगर हम होते तो हमें कभी नहीं चुना जाता। बता दें कि एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ईयू सासदों की तुलना नाजी लवर्स से की थी। 

आतंकवाद के मसले पर ईयू सांसदों ने कहा कि हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साथ हैं। आतंकवाद का मसला यूरोप के लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। 

आज जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे EU सांसद, हालात का लेंगे जायजा

भारत का आंतरिक मसला है अनुच्छेद 370
ईयू सासंदो ने अनुच्छेद 370 के मसले पर कहा कि ये भारत का आंतरिक मसला है। शांति बनाए रखने के लिए भारत पाकिस्तान को आपस में मिलकर बात करनी होगी। उन्होंने कहा कि हमें वहां रहने के लिए ज्यादा वक्त नहीं मिला। इस कारण अधिक लोगों से नही मिल पाए। 

बता दें कि मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में यूरोपीए संसद क्षीनगर पहुंचे थे। यहां ये सासंद स्थानीय नेताओं, अधिकारियों, सरपंचों से मिले। इसके बाद सांसद क्षीनगर की मशहूर डल झील भी गए। कश्मीर धाटी के हालात पर भारतीट सेना ने प्रेजेंटेशन भी दिया था।    

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.