Tuesday, Dec 07, 2021
-->
jammu-kashmir-bjp-leaders-murder-security-forces-seize-suspect-vehicle-terrorist-prsgnt

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में संदिग्ध कार बरामद, 3 बीजेपी नेताओं पर हमले में इस्तेमाल का शक

  • Updated on 10/30/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में बीती रात कुलगाम के काजीगुंड में भारतीय जनता पार्टी के तीन नेताओं की आतंकियों ने हत्या कर दी थी। जिसके बाद से काजीगुंड मातम में डूबा हुआ है। हत्या के बाद जब मृतक नेताओं के अंतिम संस्कार के लिए उनकी शव यात्रा निकाली गई तब सैंकड़ों लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।  

इस बीच अनंतनाग के अछबल इलाके से पुलिस ने एक कार को बरामद किया है। इस कार को लेकर अनुमान लगाया जा रहा है कि  इसका इस्तेमाल आतंकियों ने बीजेपी नेताओं की हत्या करने के लिए किया था।

मुंगेर कांड: शिवसेना का BJP पर वार- आंखों पर चढ़ा सेक्युलर चश्मा, चुप क्यों हैं खोखले हिंदुत्ववादी?

स्थानीय पुलिस ने बताया कि लगभग 8 बजकर 20 मिनट पर, कुलगाम पुलिस को वाईके पोरा गांव में एक आतंकवादी घटना के बारे में सूचना मिली, जहां आतंकवादियों ने तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं पर गोलीबारी की।

हमले के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटनास्थल पहुंचे और तीन कार्यकर्ताओं इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। लश्कर-ए-तैयबा के मुखौटा संगठन माने जाने वाले ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली है।  बता दें, इस आतंकी हमले में बीजेपी के फिदा हुसैन के अलावा उमर राशीद बेग और उमर रमजान मारे गए हैं।

पुलवामा हमले पर कबूलनामे के बाद खौफ में पाकिस्तान, कुछ ही घंटों में बदला बयान, कही ये बात

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार देर शाम कुलगाम जिले के वाई के पोरा इलाके में फिदा हुसैन, उमर हाजम और उमर राशीद बेग की आतंकवादियों ने गोली मार दी। उन्होंने बताया कि पीड़ितों को काजीगुंड के एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट पर हत्या की निंदा करते हुए कहा, मैं अपने तीन युवा कार्यकर्ताओं की हत्या की निंदा करता हूं। वे ऊर्जावान युवा जम्मू-कश्मीर में शानदार काम कर रहे थे। शोक की इस घड़ी में उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें।

बता दें, कुछ हफ्तों में कश्मीर में बीजेपी के नेता आतंकियों के निशाने पर आए हैं। इस हमले से पहले 6 अक्टूबर को गांदरबल में जिला बीजेपी उपाध्यक्ष गुलाम कादिर राथर को मार दिया गया था। इसके बाद 4 अगस्त को कुलगाम के आखरन नौपुरा में बीजेपी के नेता और संरपच आरिफ अहमद पर जानलेवा हमला हुआ था। जबकि 8 जुलाई को बीजेपी नेता वसीम बारी समेत उनके भाई और पिता की हत्या कर दी गई थी।  

comments

.
.
.
.
.