Wednesday, Dec 07, 2022
-->
jee-advance-the-cutoff-for-reserved-categories-was-the-lowest-in-4-years

Jee advance: आरक्षित वर्गों के लिए 4 वर्षों में सबसे कम रही कटऑफ

  • Updated on 8/9/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आईआईटी बॉम्बे द्वारा 28 को आयोजित की जा रही संयुक्त प्रवेश परीक्षा(जेईई) एडवांस्ड में पंजीकरण का कटऑफ एनटीए द्वारा घोषित कर दिया गया। इस वर्ष तकरीबन 2 लाख 62 हजार अभ्यर्थियों ने जेईई एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई किया है। इस वर्ष  की बात ये है कि एससी, एसटी और ओबीसी के लिए कटऑफ बीते चार वर्षों में सबसे कम है।

यूजीसी नेट परीक्षा का दूसरा चरण स्थगित : यूजीसी चेयरमैन

जबकि सामान्य कैटेगरी के लिए 2021 के मुकाबले कटऑफ ऊंची है। 2021 में सामान्य कैटेगरी के लिए 87.9 कटऑफ थी। वहीं इस वर्ष सामान्य कैटेगरी के लिए 88.4 पर्सेंटाइल रही है। वहीं 2019 में यह 89.7 और 2020 में 90.3 था। लेकिन आरक्षित सीटों में एससी(अनुसूचित जाति) के लिए देखें तो इस वर्ष 43.08 फीसद रही है।

एनटीए ने जेईई मेन्स अंतिम परिणाम घोषित किए, 24 उम्मीदवारों ने हासिल किए 100 पर्सेंटाइल

जबकि 2019 में 54.01, 2020 में 50.10, 2021 में 46.80 कटऑफ रही है। यही हाल एसटी (अनुसूचित जनजाति) की कटऑफ का रहा है। इस वर्ष बीते 4 वर्षों में सबसे कम 26.70 पसेंटाइल कटऑफ रखी गई है। जोकि 2021 में 34.6, 2020 में 39.06, 2019 में 44.30 से कम है। ओबीसी की कटऑफ भी 2021, 2020, 2019 के मुकाबले काफी कम है। इस वर्ष 67 पर्सेंटाइल ओबीसी के लिए कटऑफ रखी गई है। 

क्लैट परीक्षा 2023 के लिए आवेदन शुरू

बता दें देश की 23 आईआईटीज में जेईई एडवांस्ड के स्कोर पर दाखिले किए जाते हैं। वहीं जेईई मेन्स स्कोर पर एनआईटीज, ट्रिपल आईटीज, जीएफआईटीज में दाखिले का रास्ता निकलता है। जेईई मेन्स के दोनों सत्रों में 10.26 लाख उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था। जोकि 2019 के बाद सबसे कम है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.