Sunday, May 26, 2019

JEE Main का जारी हुआ रिजल्ट , दिल्ली के शुभान श्रीवास्तव ने किया टॉप

  • Updated on 4/30/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  नेशनल टेस्टिंग ऐजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित हुई जेईई मेन परीक्षा का सोमवार रात रिजल्ट जारी कर दिया गया। इस रिजल्ट को समय से पहले जारी किया गया। एनटीए के प्रॉस्पेक्ट्स के मुताबिक जेईई मेन पेपर-ए का रिजल्ट 30 अप्रैल को  घोषित किया जाना था,लेकिन इसे तय समय से एक दिन पहले घोषित कर दिया गया है। इस परिणाम को एनटीए की ऑफिशियल वेबसाइट जेईईमेंस डॉट नीक डॉट इन पर देख सकते है। दिल्ली के शुभान श्रीवास्तव ने इस परीक्षा में पहला स्थान हासिल किया है, वहीं कर्नाटक के केविन मार्टिन को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। एनटीए ने इस साल जेईई मेन 2019 की परीक्षा को दो भागों में आयोजित किया था।

स्कूल-कॉलेजों को शिक्षा निदेशालय की फटकार, फीस बढ़ोतरी की अर्जी खारिज

पहला जनवरी 2019 में और दूसरा अप्रैल 2019 में आयोजित किया गया था। अभ्यर्थियों का भौतिकी, रसायन और गणित का टेस्ट लिया गया था। अधिकतम अंक 360 थे और प्रत्येक विषय के लिए 120 अंक तय थे। जेईई मेन की जनवरी और अप्रैल दोनों महीनों में हुई इस परीक्षा में कुल 11,47,125 परीक्षार्थी बैठे थे। हालांकि इस परीक्षा के लिए कुल 12,37,892 परीक्षार्थियों ने पंजीकरण कराया था।

जनवरी में हुई परीक्षा में 9.29 लाख परीक्षार्थियों ने पंजीकरण कराया था और अप्रैल की परीक्षा के लिए 9.35 लाख परीक्षार्थियों ने पंजीकरण कराया था। इनमें 6.46 लाख ऐसे परीक्षार्थी थे जिन्होंने दोनों परीक्षाओं के लिए पंजीकरण कराया था और लगभग चार लाख दोनों परीक्षाओं में बैठे थे। दोनों परीक्षाओं में अभ्यर्थियों में 2.97 लाख अभ्यर्थियों ने अपने प्रदर्शन में सुधार किया है। दोनों परीक्षाओं में से किसी एक परीक्षा में मिलने वाले सर्वाधिक अंकों को परीक्षा परिणाम में रैंक के लिए शामिल किया गया है। 

जेईई एडवांस के परिणाम के बाद होगी काउंसलिंग 
जेईई मेन परीक्षा के छात्रों के लिए काउंसलिंग जेईई एडवांस परीक्षा के परिणाम के घोषित होने के बाद शुरू होगी। जेईई एडवांस के के लिए पंजीकरण प्रक्रिया 3 मई से शुरू होगी। देशभर में 27 मई को कम्प्यूटर आधारित परीक्षा का आयोजन होगा। इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 9 मई है। एडमिट कार्ड 20 मई तक डाउनलोड हो सकेंगे। 


कम्प्यूटर साइंस में आगे बढ़ना चाहते हैं शुभान 

शुभान श्रीवास्तव अपनी इस सफलता में सबसे बड़ा हाथ अपने परिवार का मानते हैं। शुभान ने कहा मेरी सफलता के पीछे परिवार की मेहनत और सपोर्ट है। आगे वह कम्प्यूटर साइंस में पढ़ाई करना चाहते है और कम्प्यूटर इंजीनियर बनना चाहते है। शुभान का कहना है कि वह जेईई की परीक्षा के लिए 11वीं कक्षा से ही तैयारी करने में लगे हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.