Monday, Nov 28, 2022
-->
jee mains exam first session over, cutoff may go up to 90 percentile

जेईई मेंस परीक्षा पहला सत्र खत्म, 90 पर्सेंटाइल तक जा सकती है कटऑफ

  • Updated on 6/29/2022

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी(एनटीए) द्वारा 23 जून से आयोजित कराई जा रही इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा(जेईई मेन्स) बुधवार को खत्म हो गई। बुधवार को बीई बीटेक के लिए पहली पाली में आयोजित हुए पेपर-1 को अभ्यर्थियों ने कठिन बताया। बुधवार को परीक्षा बाद अभ्यर्थियों ने कहा कि केमिस्ट्री और फिजिक्ट के मुकाबले गणित का सेक्शन कठिन रहा।

नहीं बदली नीट यूजी परीक्षा तिथि, एनटीए ने परीक्षा शहर स्लिप जारी की

परीक्षा के आखिरी दिन छात्रों को कठिन लगा गणित और फिजिक्स 
वहीं दूसरी पारी में परीक्षा केंद्र के बाहर आए अभ्यर्थियों ने भी गणित और फिजिक्स को कठिन माना वहीं केमिस्ट्री उन्हें आसान लगी। इस हिसाब से देखा जाए को बुधवार को आयोजित हुए दोनो पेपर कठिन रहे। जेईई मेन्स की कटऑफ 30 फीसद के आसपास रहता है। जेईई एक्सपर्ट डॉ. रमेश बतलिश के अनुसार ऐसे छात्र जो 300 में 90 अंक से ऊ पर हासिल करते हैं तो वह जेईई एडवांस के लिए क्वालीफाई कर सकते हैं।

CBSE Board Result 2022: सीयूईटी परीक्षा से पहले सीबीएसई घोषित कर सकता है 10वीं-12वीं रिजल्ट

2021 में 87 और 2020 में 90 रही थी जेईई मेन्स कट ऑफ 
क्योंकि जेईई मेन्स 2021 में यह 87 पर्सेंटाइल रही है और 2020 में 90 पर्सेंटाइल रही है। बतलिश ने कहा कि वहीं जेईई एडवांस में यह कटऑफ 360 में 125 के ऊपर रहता है। तो वह अभ्यर्थी टॉप 10 हजार छात्रों में आ सकते हैं। टॉप 10 हजार में आने पर देश की आईआईटीज में दाखिला होने का मौका मिल सकता है क्योंकि करीब 17 हजार सीटें 23 आईआईटीज में हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.