Monday, Sep 27, 2021
-->
jee-mains-result-18-students-got-300-marks-out-of-300-stood-first

जेईई मेन्स रिजल्टः 18 छात्रों को मिले 300 में 300 नंबर, रहे पहले स्थान पर

  • Updated on 9/15/2021

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने मंगलवार देर रात संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE MAINS) के चारों चरणों का अंतिम रिजल्ट जारी कर दिया है। इंजीनिरिंग प्रवेश परीक्षाओं में पहली बार 44 विद्यार्थियों ने 100 पर्सेंटाइल स्कोर हासिल कर एक रिकॉर्ड बनाया है। इन 44 विद्यार्थियों में 18 उम्मीदवारों ने शीर्ष रैंक साझा की है।

जेईई एडवांस 2021 के पंजीकरण हुए शुरू

दिल्ली के काव्या और रुचिर ने टॉप 18 में बनाई जगह, पाई एआईआऱ-1
जेईई मेन्स श्रेष्ठता सूची में पहले स्थान पर कर्नाटक के गौरव दास, बिहार के वैभव विशाल, आंध्र प्रदेश के डी वेंकट पनीश शामिल हैं। इसके अलावा राजस्थान से सिद्धांत, अंशुल वर्मा और मृदुल अग्रवाल, दिल्ली से काव्या चोपड़ा व रूचिर बंसल, उत्तर प्रदेश से पाल अग्रवाल और अमिया सिंघल, तेलंगाना से कोम्मा शरण्या और 'वायसुला वेंकट, आंध्र प्रदेश से पीवीर शिवा, कामम लोकेश और के राहुल नायडू, पंजाब से पुलकित गोयल व चंडीगढ़ से गुरमीत सिंह का नाम शामिल है। हालांकि बीते वर्ष केवल 24 उम्मीदवारों को ही 100 पर्सेंटाइल हासिल हुआ था।

पहले दिन कॉलेज पहुंचे छात्रों में दिखी सहपाठियों से मिलने की खुशी

चारो सत्र में 9.34 लाख छात्रों ने दी परीक्षा 
जेईई मेन्स परीक्षा 334 शहरों में बनाए गए 925 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई थी। जेईई मेन्स के चार संस्करणों में करीब 9.34 लाख छात्रों ने हिस्सा लिया। वहीं कुल 2.52 लाख उम्मीदवारों ने परीक्षा के सभी चारों संस्करणों में हिस्सा लिया। इस साल कुल 6.58 लाख पुरुष अभ्यर्थी और 2.80 महिला अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी।      

जेईई मेन में पाल अग्रवाल ने ऑल इंडिया वन रैंक प्राप्त की

इस वर्ष 4 चरणों में और 13 भाषाओं में आयोजित हुआ जेईई मेन
एनटीए ने इस वर्ष 4 चरणों में जेईई मेन्स परीक्षा का आयोजन कराया था। जिसका पहला चरण फरवरी, दूसरा चरण मार्च, तीसरा चरण जुलाई और चौथा चरण अगस्त-सितम्बर में आयोजित किया गया। चारों चरणों के कुल पंजीकरणों की संख्या देखें तो यह 26 लाख से अधिक है। परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की गई थी जिनमें अंग्रेजी, हिन्दी, गुजराती, असमी, बंगाली, कन्नड़, मलयाली, मराठी, ओडिया, पंजाबी, तमिल, तेलूगु और उर्दू शामिल हैं। एनटीए के नीति के अनुसार, गणित में अधिक अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाती है । इसके बाद भौतिकी और फिर रसायन में प्राप्त अंक को महत्व दिया जाता है। यदि इसके बाद भी फैसला नहीं हो पाने की स्थिति में (टाई) जिस उम्मीदवार के नकारात्मक अंक (नेगेटिव) आनुपातिक रूप से कम होते हैं, उसे वरीयता दी जाती है।

कोविड-19 के कारण मां-बाप को चुके छात्रों को आईसीएआई ने फीस में दी छूट

सीबीआई छापे की वजह से रिजल्ट में हुई देरी
यह रिजल्ट 10 सितम्बर को जारी होना था लेकिन चौथे चरण की परीक्षा में कु छ परीक्षा केंद्रों पर अनियमितताओं की शिकायतें उजागर होने पर सीबीआई ने त्वरित कार्रवाई करते हुये देश भर में 19 शहरों में बने परीक्षा केंद्रों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। जिसमें फर्जी नाम से पेपर दिलवाने वाले तीन दलालों की गिरफ्तारी कर ली गई। इस कार्रवाई के कारण रिजल्ट देरी से घोषित हो सका।

पंचायती राज ने निर्णय निर्माताओं के रूप में महिलाओं को मजबूत किया : प्रो.वंदना

जेईई एडवांस के लिए ये रही कटऑफ
जेईई एडवांस परीक्षा के लिए सामान्य श्रेणी में 87-90 पर्सेंटाइल कटऑफ रखी गई है। वहीं ई़ब्ल्यूएस श्रेणी के लिए यह कटऑफ 66 से शुरू होकर 87 तक गई है। वहीं ओबीसी एनसीएल में 68 से लेकर 87 तक कटऑफ रखी गई। एससी उम्मीदवारों के लिए 46 से 87 और एसटी उम्मीदवारों के लिए कटऑफ 34 से 87 रखी गई है। जेईई कटऑफ जारी होने के बाद एडवांस के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। टॉप 2.5 लाख अभ्यर्थी जेईई एडवांस के लिए 3 अक्तूबर को परीक्षा देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.