Tuesday, Oct 04, 2022
-->
jkca regarding money laundering case farooq abdullah said i will not bow down bjp rkdsnt

जेकेसीए धन शोधन मामले को लेकर फारूक अब्दुल्ला बोले- किसी के आगे नहीं झुकूंगा

  • Updated on 12/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (जेकेसीए) धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने बुधवार को जोर देते हुए कहा कि वह किसी के आगे नहीं झुकेंगे। जिला विकास परिषद चुनाव परिणामों की घोषणा के एक दिन बाद उन्होंने नेकां मुख्यालय ‘नवा-ए-सुबह’ में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भगवा पार्टी सोचती है कि वह उसके आगे झुक जाएंगे, लेकिन वह नहीं झुकेंगे। 

कंगना रनौत के बंगले में तोड़फोड़ मामले में मानवाधिकार आयोग ने BMC आयुक्त को किया तलब

उन्होंने संभवत: भाजपा के संदर्भ में यह कहा। अब्दुल्ला ने कहा , ‘‘उन्हें लगता है कि फारूक अब्दुल्ला उनके आगे झुक जाएंगे। मैं सिर्फ अपने अल्लाह के आगे अपना सिर झुकाउंगा, किसी और के आगे नहीं। वह (अल्लाह) मेरे सृजनकर्ता हैं । वे लोग मुझे डराने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे फारूक अब्दुल्ला को जानते नहीं हैं। मैं शेर-ए-कश्मीर (नेकां के संस्थापक शेख मोहम्मद अब्दुल्ला) का बेटा हूं। ’’ 

किसान यूनियनों ने केंद्र के कृषि कानूनों में संशोधन के प्रस्ताव को ठुकराया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जेकेसीए मामले में शनिवार को अब्दुल्ला की 11.86 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की थी। जांच एजेंसी ने कहा था कि धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत की गई जांच के बाद यह पाया गया कि 2005-06 और 2012 के बीच जेकेसीए ने बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इन इंडिया (बीसीसीआई) से 109.78 करोड़ रुपये प्राप्त किए थे। भावुक नजर आ रहे अब्दुल्ला ने नेकां कार्यकर्ताओं से चुनौतियों से नहीं डरने को कहा। 

हेराल्ड मामला: सोनिया, राहुल ने सुब्रह्मण्यम स्वामी पर लगाया सुनवाई में देरी कराने का आरोप

उन्होंने कहा, ‘‘हम चुनौतियों का सामना करेंगे। दरअसल, अल्लाह ने हमारी परीक्षा लेने के लिए हमारे समक्ष चुनौतियां रखी हैं। मैंने उस तरह कभी कुरान नहीं पढ़ी थी , जैसा कि हिरासत में रहने के दौरान पढ़ी। इसलिए चुनौतियों से नहीं डरता। ’’ नेकां प्रमुख ने कहा कि डीडीसी चुनाव परिणामों से यह साबित हो गया है कि पार्टी और गुपकार गठबंधन ने जो कदम उठाए, वे सही दिशा में थे। इस गठबंधन में नेकां और पीडीपी सहित मुख्यधारा की कई पार्टियां शामिल हैं। गठबंधन पूर्ववर्ती जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल करने की मांग रहा है, जिसे पिछले साल अगस्त में केंद्र ने निरस्त कर दिया था।

आईसीसी की धमकी के बीच BCCI की अहम एजीएम 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.