Friday, Jan 24, 2020
jnu students protest out side hrd minister house

जेएनयू छात्रों ने एचआरडी मंत्रालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

  • Updated on 11/30/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जवाहरलाल नेहरू विश्व विद्यालय (JNU) (जेएनयू) के छात्रों ने शुक्रवार को मानव संसाधन विकास  (एचआरडी) मंत्रालय के बाहर धरना किया। हॉस्टल फीस बढ़ोतरी के खिलाफ 4 सप्ताह से आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियो छात्रों की मांग है कि हॉस्टल मैनुअल रोलबैक, VC को पद से हटाने और सरकार की तीन सदस्यीय कमेटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक किए की जाए। इसके साथ ही छात्रों ने सेमेस्टर सेशन बढ़ाने की भी मांग की। 

JNU छात्र संघ फीस बढ़ोत्तरी को लेकर HRD मंत्रालय के बाहर करेगा प्रदर्शन

एचआरडी मंत्री से करना चाहते थे मुलाकात
इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने अपनी समस्याओं के समाधान को लेकर एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात करने की कोशिश की, लेकिन मुलाकात नहीं हो पाई। छात्रों ने चेतावनी दी है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती तब तक उनका आंदोलन खत्म नहीं होगा।  वहीं जेएनयू शिक्षक संघ ने भी आगामी 2 दिसम्बर को एमएचआरडी जवाब दो नाम से विरोध मार्च की घोषणा की है। 

JNU: 50 प्रतिशत छूट से संतुष्ट नहीं छात्र, पूरी फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग पर आज फिर प्रदर्शन

12 दिसम्बर से होगी सेमेस्टर परीक्षा शुरू
जेएनयू में आगामी 12 दिसम्बर से सेमेस्टर परीक्षा शुरू हो रही है, जिसे जेएनयू छात्र संघ ने एचआरडी मंत्री से आगे बढ़ाने की मांग की है। छात्र संघ ने कहा कि हॉस्टल फीस बढ़ोतरी के चलते विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थी डेढ़ महीने से कक्षाओं में नहीं गए हैं। फीस बढ़ोतरी के विरोध के चलते उनकी पढ़ाई प्रभावित हुई है, इसलिए वे लगातार सेमेस्टर सेशन बढ़ाने की मांग कर रहे हैं, ताकि छात्रों को परीक्षा की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल सके। हालांकि विश्वविद्यालय प्रशासन ने पहले ही छात्रों को चेतावनी दी है कि सेमेस्टर परीक्षा की तारीख में कोई बदलाव नहीं होगा। 

JNU में सभी छात्रों को बढ़ी हुई फीस से राहत, जानें अब देना होगा कितना पैसा

शिक्षक संघ ने मांग किया समर्थन
सेमेस्टर परीक्षा तय अकादमिक प्रारूप के तहत ही होगी, इसलिए विरोध के बजाए वे कक्षाओं में लौट जाएं। जेएनयू शिक्षक संघ ने भी छात्र संघ की सेमेस्टर सेशन बढ़ाने की मांग का समर्थन किया है। 

comments

.
.
.
.
.