Sunday, Dec 15, 2019
jnu university convocation students organises protest over hostel fee and dress code issue

JNU में दीक्षांत समारोह के दौरान छात्रों का बड़ा प्रदर्शन, फीस बढ़ोतरी और ड्रेस कोड पर बवाल

  • Updated on 11/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) के तीसरे दीक्षांत समारोह में सोमवार को डिग्री हासिल करने वाले कई छात्रों ने निराशा जाहिर की क्योंकि फीस वृद्धि के विरोध में हुए प्रदर्शन के चलते उन्हें लगा कि जेएनयू के छात्र के रूप में उनका अंतिम दिन ‘‘बर्बाद’’ हो गया। कई अन्य छात्र ऐसे भी थे, जिन्होंने प्रदर्शनकारी छात्रों को समर्थन दिया और दीक्षांत समारोह स्थल के अंदर एकजुटता के साथ खुद भी विरोध प्रदर्शन किया।  

जेएनयू (JNU) के हजारों छात्रों ने फीस वृद्धि के विरोध में सोमवार को प्रदर्शन किया, जिसके चलते मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल‘निशंक’को एआईसीटीई परिसर में छह घंटे से अधिक समय तक रुकने को मजबूर होना पड़ा। छात्र अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। 

बता दें कि दिल्ली (Delhi) के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में आज यानी 11 नवंबर को तीसरा दीक्षांत समारोह वसंत कुंज (Vasant Kunj) के नेल्सन मंडेला मार्ग (Nelson Mandela Marg) स्थित एआईसीटीई ऑडिटोरियम (AICTE Auditorium) में आयोजित किया गया। जिसके मुख्य अतिथि के रूप में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) समारोह में शामिल हुए। इसके विरोध में जेएनयू छात्र संघ आज विरोध मार्च निकाला। 

वहीं जेएनयू (JNU) के आसपास छात्रों के प्रदर्शन के कारण सुबह से यातायात बाधित रहा। यह विरोध मार्च छात्र हॉस्टल फीस बढ़ोतरी, आने-जाने के समय पर पाबंदी और ड्रेस कोड पाबंदियों के खिलाफ कर रहे हैं। दिल्ली यातायात पुलिस ने सोमवार को ट्वीट किया, "प्रदर्शन के कारण बाबा गंगनाथ मार्ग से जेएनयू तक यातायात में बाधा।"

दिल्ली के अस्पतालों में काली पट्टी बांधकर नर्स करेंगी प्रदर्शन, ये हैं मांगें

उसने एक अन्य ट्वीट में कहा, "नेल्सन मंडेला मार्ग पर प्रदर्शन के कारण पीएस वसंत विहार से पीएस वसंत कुंज तक यातायात बाधित। कृपया यहां से यात्रा करने से बचें।" सैकड़ों जेएनयू छात्रों ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ऑडिटोरियम के बाहर प्रशासन की "छात्र विरोधी" नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया। यहां विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह आयोजित किया जा रहा है।

JNU: फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शनरत छात्रों ने लिखाई VC की गुमशुदगी की रिपोर्ट

फीस बढ़ोतरी और ड्रेस कोड के विरोध में प्रदर्शन
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि और ड्रेस कोड जैसी पाबंदियों के विरोध में सैकड़ों छात्रों ने सोमवार को विश्वविद्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे छात्र अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) की तरफ आगे बढ़ने चाहते थे लेकिन गेटों पर अवरोधक लगा दिए गए हैं। उप राष्ट्रपति वेकैंया नायडू इस स्थान पर दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे हैं।

JNU: फीस बढ़ोतरी के विरोध में ABVP मना रही काला दिवस, कैंपस में दिखे CRPF जवान

छात्रों ने बताया कि सुबह शुरु हुआ यह प्रदर्शन छात्रावास के मैनुअल के विरोध के अलावा पार्थ सारथी रॉक्स में प्रवेश पर प्रशासन की पाबंदी तथा छात्र संघ के कार्यालय को बंद करने के प्रयास के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों का ही हिस्सा है। छात्रों का दावा है कि मैनुअल में फीस में वृद्धि, कफ्यू का वक्त और ड्रेस कोड जैसी पाबंदियों का प्रावधान है।

JNU: दीक्षांत समारोह में आज उपराष्ट्रपति होंगे मुख्य अतिथि, एन सीतारमण और जयशंकर को मिलेगा पुरस्कार

पहला दीक्षांत समारोह 1972 में आयोजित किया गया
बता दें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एमए और एमफिल की डिग्री क्रमश: सामाजिक विज्ञान स्कूल  व अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन केंद्र (एसआईएस) से पूरी की थी। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एआईएस से एमफिल और डॉक्टोरल रिसर्च की डिग्री प्राप्त की थी। जहां वह न्यूक्लियर डिप्लोमेसी में पारंगत हुए।

बता दें जेएनयू में पहला दीक्षांत समारोह 1972 में आयोजित किया गया था जिसमें बलराज साहनी मुख्य अतिथि थे। दूसरा दीक्षांत समारोह 46 साल बाद 2018 में आयोजित किया गया। जिसमें विवि. के चांसलर विजय कुमार सारस्वत मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.