Friday, Dec 06, 2019
jnu vice president will be the chief guest, n seetharaman and s jaishankar will get the award

JNU: दीक्षांत समारोह में आज उपराष्ट्रपति होंगे मुख्य अतिथि, एन सीतारमण और जयशंकर को मिलेगा पुरस्कार

  • Updated on 11/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) में आज तीसरा दीक्षांत समारोह वसंत कुज (Vasant Kunj) के नेल्सन मंडेला मार्ग (Nelson Mandela Marg) स्थित एआईसीटीई ऑडिटोरियम (AICTE Auditorium) में आयोजित किया जाएगा, जिसके मुख्य अतिथि के रूप में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) समारोह की गरिमा बढ़ाएंगे।

JNU: प्रशासन ने छात्रावास अध्यक्षों को बैठक के लिए बुलाया

विकास मंत्री रमेश पोखरियाल भी समारोह में होंगे शामिल
विशिष्ट अतिथि के रूप में दीक्षांत समारोह में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal) निशंक भी शामिल होंगे। दीक्षांत समारोह में नीति आयोग के सदस्य व जेएनयू चांसलर विजय कुमार सारस्वत (Vijay Kumar Saraswat) भी उपस्थित रहेंगे। इस दौरान 1 जुलाई 2018 से लेकर 30 जून 2019 के बीच अपनी पीएचडी डिग्री पूरी करने वाले छात्रों को डिग्री वितरित की जाएगी। 

जेएनयू में अब बिना आई-कार्ड नहीं हो सकती एंट्री

निर्मला सीतारमण और सुब्रमण्यम जयशंकर को दिया जाएगा प्रतिष्ठित पूर्व छात्र पुरस्कार
यूनिवर्सिटी के नियमों के मुताबिक बैचलर्स, मास्टर और एमफिल करने वाले छात्रों को विवि. के एग्जामिनेशन शाखा में जाकर अपनी डिग्री लेनी होगी। क्योंकि दीक्षांत समारोह में सिर्फ पीएचडी पूरी करने वाले छात्रों को ही डिग्री प्रदान की जाएगी। दीक्षांत समारोह में प्रतिष्ठित पूर्व छात्र पुरस्कार के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman), और विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर (Subrahmanyam Jaishankar) का नाम तय किया गया है जिन्हें प्रतिष्ठित पूर्व छात्र पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

JNU छात्रसंघ चुनाव में ABVP के खिलाफ एक होंगे वामपंथी संगठन

पहला दीक्षांत समारोह 1972 में आयोजित किया गया
बता दें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एमए और एमफिल की डिग्री क्रमश: सामाजिक विज्ञान स्कूल  व अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन केंद्र (एसआईएस) से पूरी की थी। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एआईएस से एमफिल और डॉक्टोरल रिसर्च की डिग्री प्राप्त की थी। जहां वह न्यूक्लियर डिप्लोमेसी में पारंगत हुए।

बता दें जेएनयू में पहला दीक्षांत समारोह 1972 में आयोजित किया गया था जिसमें बलराज साहनी मुख्य अतिथि थे। दूसरा दीक्षांत समारोह 46 साल बाद 2018 में आयोजित किया गया। जिसमें विवि. के चांसलर विजय कुमार सारस्वत मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए थे।

कश्मीरी छात्रों को लेकर भ्रम फैलाने वाले ट्वीट करने पर JNU की शेहला राशिद पर मुकदमा दर्ज

जेएनयू छात्र करेंगे समारोह का विरोध 
बीते दो सप्ताह से हॉस्टल मैनुअल को वापस करने की मांग को लेकर जेएनयू प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जेएनयू विवि. के छात्रों ने एआईसीटीई ऑडिटोरियम में आज आयोजित किए जा रहे तीसरे दीक्षांत समारोह का विरोध करने का फैसला किया है। छात्रों का कहना है कि बिना सस्ती शिक्षा के कोई दीक्षांत समारोह नहीं मनाया जा सकता।

छात्रों ने दीक्षांत समारोह के दिन पूरे विवि. में हड़ताल का ऐलान किया है। जिसको लेकर सुबह छात्र 8 बजे फ्रीडम स्कुएर पर इकट्ठे होकर से नो टू फी हाइक, सर्विस चार्ज, ड्रेस कोड, कर्फ्यू टाइमिंग, ड्रॉफ्ट हॉस्टल मैनुअल जैसे नारों को लगाते हुए बड़ी संख्या में एआईसीटीई ऑडिटोरियम तक मार्च करेंगे।

comments

.
.
.
.
.