Monday, Jan 21, 2019

कैंसर के खतरे की जानकारी पहले से होने के बावजूद Johnson & Johnson बेचती रही बेबी पाउडर

  • Updated on 12/15/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमेरिकी कंपनी Johnson & Johnson के बारे में एक बड़ा खुलासा हुआ है। पता चला है कि  कंपनी को बेबी पाउडर से कैंसर के खतरे की जानकारी पहले से थी, इसके बावजूद कंपनी अपने उत्पाद को बाजार में बेचती रही। रॉयटर्स की रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है।

 रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में कंपनी के इंटरनल दस्तावेज का हवाला देते हुए कहा है कि कंपनी के एग्जीक्यूटिव से लेकर माइन मैनेजर, वैज्ञानिक, डॉक्टर और यहां तक कि वकील को भी इस बात की जानकारी थी, इसके बावजूद कंपनी सालों तक अपने इस उत्पाद को बेचती रही।

श्रीलंका में सत्ता संघर्ष के बाद महिंदा राजपक्षे ने दिया प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा

रॉयटर्स के अनुसार उसने कंपनी के कई दस्तावेजों का अध्ययन किया और पाया कि 1971 से 2000 तक Johnson & Johnson के रॉ पाउडर की जांच में कई बार एस्बेस्टस के होने की बात सामने आई। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कंपनी ने कॉस्मेटिक टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस की मात्रा को लिमिट करने की कोशिशों के खिलाफ अमेरिकी रेगुलेटर्स पर दबाव भी बनाया और इसमें वह काफी हद तक सफल भी रही। 

पाकिस्तान से आए 83 हिंदुओं को मिली भारत की नागरिकता

रॉयटर्स की इस रिपोर्ट के आने के बाद  Johnson & Johnson कंपनी के शेयर में 10 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली। वहीं  Johnson & Johnson कंपनी ने रॉयटर्स की इस रपट को गलत बताया है। कंपनी का कहना है कि रॉयटर्स का यह लेख एकतरफा और झूठा है। कंपनी अभी भी यही कह रही है कि उस का बेबी पाउडर एकदम सुरक्षित है और एस्बेस्टस मुक्त है। कंपनी का कहना है कि उसने इसको लेकर तमाम तरह के टेस्ट भी कराए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.