Sunday, Feb 23, 2020
jp nadda became bjp president

अध्यक्ष बनने के बाद बोले जेपी नड्डा, जिन राज्यों में BJP मजबूत नहीं, वहां कमल पहुंचाएंगे

  • Updated on 1/20/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। निर्विरोध भाजपा (BJP) के अध्यक्ष चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह के साथ-साथ कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करते हुए जेपी नड्डा ने विश्वास और सहयोग के लिए आभार जताया। नड्डा ने  वादा किया कि अपने कार्यकाल में पार्टी को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे और देश के जिन ‘गिने चुने राज्यों में पार्टी मजबूत स्थिति में नहीं हैं वहां भी कमल पहुंचाया जाएगा।‘

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और कई अन्य नेताओं एवं कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में नड्डा ने कहा कि किसी राजनीतिक परिवार से नहीं होने के बावजूद पार्टी का उनका अध्यक्ष बनना सिर्फ भाजपा में संभव हैं। उन्होंने भाजपा मुख्यालय में कहा, ‘जो विश्वास, सहयोग आपने मुझ पर किया है, उसके लिए धन्यवाद करता हूं। मैं महसूस करता हूं कि जिसे शीर्ष नेतृत्व को इतना प्यार मिला हो तथा कार्यकर्ता एवं नेताओं का साथ है तो मैं पूरी ताकत से आगे बढ़ूंगा।’

नड्डा ने कहा, ‘हम सिर्फ नीतियों में अलग नहीं हैं, उनके नतीजे भी अलग हैं, यह समझना चाहिए।’ नड्डा ने कहा, ‘मेरी राजनीति में कोई पारिपारिक पृष्ठभूमि नहीं रही। हिमाचल प्रदेश के एक सुदूर गांव से आकर इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिलती है तो यह सिर्फ भाजपा में संभव है।’ उन्होंने कहा, ‘अमित शाह जी ने कहा है कि अभी भाजपा का उत्कर्ष पर पहुंचना बाकी है। प्रधानमंत्री ने भी कहा कि अभी पार्टी बहुत आगे ले जाना हैं। जो कुछ भी ताकत और सामथ्र्य होगा मैं काम करूंगा तथा हम भाजपा को उत्कर्ष की स्थिति में ले जाएंगे।’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘देश में सबसे बड़ी पार्टी हमारी है। सबसे ज्यादा सांसद और विधायक हमारे हैं। देश और कई राज्यों में हमारी सरकारें हैं। हम रुकने वाले नहीं हैं। कुछ प्रदेश अभी बच गए हैं वहां भी हमारा निशाना हैं। आने वाले समय में सारे भारत में भाजपा के कमल को पहुंचाएंगे।’ उन्होंने इस अवसर पर सभी शीर्ष नेताओं का आभार प्रकट किया। 

अमित शाह (Amit Shah) के स्थान पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता जगत प्रकाश नड्डा सोमवार को निर्विरोध पार्टी के नया अध्यक्ष चुना गया। भाजपा के संगठनात्मक चुनाव के प्रभारी राधामोहन सिंह ने नड्डा के निर्वाचन की घोषणा की। इससे पहले तक नड्डा कार्यकारी अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे थे।      

नामांकन की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद नड्डा इकलौते उम्मीदवार बचे और उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।      पिछले साल जून में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किए गए नड्डा अमित शाह की जगह पार्टी के नए अध्यक्ष बने हैं।

मौजूदा समय में गृह मंत्री का उत्तरदायित्व निभा रहे शाह ने साढ़े पांच वर्षों तक भाजपा अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभाई और उनके अध्यक्ष रहते 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की और पूरे देश में पार्टी का विस्तार हुआ।

भाजपा के वरिष्ठ नेताओं शाह, राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी तथा कई मुख्यमंत्रियों एवं नेताओं ने सोमवार को नामांकन की प्रक्रिया के दौरान नड्डा के नाम का प्रस्ताव किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा मुख्यालय में नड्डा का अभिनंदन करेंगे और फिर दोनों नेता भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उप मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे।

जानें निर्मला सीतारमण ने CAA पर बोलते हुए अदनान सामी और तस्लीमा नसरीन का क्यों किया जिक्र

रक्षा मंत्री और पूर्व भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने नड्डा को बधाई देते हुए कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि पार्टी उनके नेतृत्व में नया गौरव और सफलता हासिल करेगी। अपने सांगठनिक अनुभव के लिए पहचाने जाने वाले नड्डा जी हमेशा से पार्टी के लिए मूल्यवान रहे हैं। उनके सफल कार्यकाल की कामना करता हूं।’

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक नेता के तौर पर नड्डा के निरंतर के आगे बढऩे कामना करते हुए कहा कि वह एक ‘प्रेरक’ कार्यकर्ता रहे हैं। प्रसाद ने कहा कि हिमाचल प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले नड्डा संगठन के एक शानदार नेता हैं और मोदी सरकार में वह एक सफल स्वास्थ्य मंत्री भी रहे।

उन्होंने कहा, ‘नड्डा के पास पार्टी नेता और प्रशासक के तौर पर बेहतरीन अनुभव है।’ पार्टी नेता और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि नड्डा के पास विशाल संगठनात्मक और प्रशासनिक अनुभव है और उम्मीद है कि पार्टी उनके नेतृत्व में और मजबूत होगी। 

छात्र जीवन से हैं राजनीति में 

नड्डा ने राजनीति में शुरुआत छात्र राजनीति से की थी। संगठन में उनका दशकों पुराना अनुभव, आरएसएस (RSS) से उनकी नजदीकी और स्वच्छ छवि उनकी ताकत है। शाह ने रविवार शाम में कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा शासित राज्य के मुख्यमंत्रियों सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की। हालांकि, इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई कि बैठक में क्या चर्चा हुई, सूत्रों ने कहा कि पार्टी नेताओं ने चुनावी कवायद के बारे में विस्तार से चर्चा की।

CAA: केरल में मामला हाईकोर्ट पहुंचने के बाद केंद्र और राज्य में बढ़ी तल्खी

अमित शाह का कार्यकाल समाप्त
नए अध्यक्ष के चुनाव के साथ ही पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष अमित शाह का साढ़े पांच वर्ष से अधिक का कार्यकाल भी समाप्त हो जाएगा जिस दौरान भाजपा ने देशभर में अपने आधार का विस्तार किया। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में शाह के गृहमंत्री बनने के बाद भाजपा ने उनका उत्तराधिकारी चुनने की कवायद शुरू कर दी थी क्योंकि पार्टी में ‘एक व्यक्ति, एक पद’ की परंपरा रही है। नड्डा को गत वर्ष जुलाई में कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। यह इस बात का संकेत था कि हिमाचल प्रदेश से भाजपा के नेता संगठन के शीर्ष पद के लिए संभावित पसंद हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.