Sunday, Nov 28, 2021
-->

पांच साल का सफर तय कर बृहस्पति की कक्षा में पहुंचा 'जूनो', देखें वीडियो

  • Updated on 7/5/2016

Navodayatimesनई दिल्ली (टीम डिजिटल)। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक बार फिर इतिहास रचा है। नासा का जूनो नाम का उपग्रह जो पिछले पांच साल से सफर कर रहा था, आज जूपिटर यानी बृहस्पति की कक्षा में सफलतापूर्वक दाखिल हो गया है।

नासा में ये संदेश मिलते ही खुशियों का महौल छा गया है। जूनो के कंट्रोल ने सूचना दी की, 'रोगर जूनो, जूपिटर पर आपका स्वागत है।' जूनो को अंतरिक्ष में स्थापित करने का मकसद सौरमंडल के निर्माण के बारे में साक्ष्य जुटाना है। 

 

कुछ यूं पृथ्वी को लूटने में लगा है इंसान, देखें- हैरान करने वाली तस्वीरें

जूनो का सफर

अंतरिक्ष यान जूनो उपग्रह को सौरमंडल के निर्माण के बारे में जानकरी हासिल करने के लिए भेजा गया है। जूनो ने अपनी ये यात्रा पांच साल में पूरी की है।

जूनो को बृहस्पति की सतह से महज 5000 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थापित किया गया था। वहां यह 20 महीने तक बृहस्पति की कक्षा में 37 चक्कर लगाएगा। बृहस्पति के बारे में माना जाता है कि सौर मंडल में सबसे पहले यही ग्रह बना था।साथ ही यह भी माना जाता है कि सूर्य से अलग होने के क्रम में उसके कई तत्व और गैसें इसमें शेष रह गई थीं। 

गूगल का डूडल

जूनो के बृहस्पति की कक्षा में सफलतापूर्वक दाखिल होने की खुशी में गूगल ने भी एक स्पेशल डूडल बनाया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें…

comments

.
.
.
.
.