Tuesday, Aug 16, 2022
-->
kabul-gurdwara-attack-afghan-sikhs-evacuation-prsgnt

4 महीने पहले काबुल हमले में खोया परिवार, अब भारत आए 11 सिख बोले- घर जैसा महसूस हो रहा है

  • Updated on 7/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मार्च में काबुल के गुरु हर राई साहिब गुरुद्वारे पर हुए आतंकी हमले 25 लोग मारे गये थे। हमले के 4 महीने बाद सिख समुदाय के लोग अब भारत आए हैं। उन्होंने यहां आकर कहा कि उन्हें अब यहां घर जैसा महसूस हो रहा है।

भारत ने हमले के शिकार हुए अफगान सिखों और हिंदू समुदाय के 11 लोगों को लॉन्ग टर्म वीजा देकर भारत बुला लिया है। अब इन्हें नागरिकता कानून के तहत भारत की नागरिकता भी दी जा सकती है। इन सिखों में ज्यादातर वो लोग हैं, जिन्होंने हमले में अपने परिवार और रिश्तेदारों को खोया है।

राजस्थान घटनाक्रम: राजभवन ने वापस कर दीं विधानसभा सत्र बुलाने के लिए CM गहलोत की फाइलें

घर से जैसा माहौल
भारत पहुंचे लोगों इन 11 लोगों में 30 साल के गुरजीत सिंह भी शामिल हैं। गुरुजीत भारत अपनी 8 साल की बच्ची के साथ पहुंचे हैं। इनकी बेटी भी गुरुद्वारे में हुए हमले में जख्मी हो गई थी। भारत पहुंचकर गुरजीत ने कहा, यहां घर जैसा लग रहा है।

उन्होंने बताया कि हमले में उन्होंने अपने दो भाइयों को खो दिया है। इसी हमले में उनकी बेटी की आंख भी जख्मी हो गई और अब उसका इलाज होना है। उन्हें उम्मीद है कि भारत में उनकी बेटी का इलाज हो सकेगा।

राजस्थान का रणः सबकी नजर सुप्रीम कोर्ट पर, गहलोत ने सेफ गेम खेला

आतंकियों ने छोड़ा और भारत आए
55 साल के निदान सिंह सचदेवा भी इन 11 लोगों में शामिल हैं। आतंकियों ने निदान सिंह को पिछले हफ्ते ही छोड़ा है। उन्हें हमले वाले गुरूद्वारे के अलावा दूसरे गुरुद्वारे से अगवा किया गया था।

वहीँ इन 11 में एक 15 साल की लड़की भी भारत आई है। इस लड़की ने अपने सभी परिजनों को काबुल हमले में खो दिया। इतना ही नहीं, उसे जबरन धर्म परिवर्तन और शादी कराने के लिए कुछ लोगों द्वारा अगवा कर लिया गया था।

राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’ के लिए मंदिर ट्रस्ट ने आडवाणी, भागवत को भी न्योता 

क्वारंटीन होंगे सभी
भारत पहुंचे सभी सिखों के रहने और खाने की व्यवस्था दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी ने की है। कोरोना के डर को देखते हुए अभी सभी को 14 दिन के लिए राकाब गंज स्थित क्वारंटीन सेंटर में रखा जाएगा और फिर बाद में कुछ लोग यहीं रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.