Tuesday, Dec 06, 2022
-->
kalank-movie-review-in-hindi

#MovieReview : शानदार अभिनय और बेमिसाल डायरेक्शन से दिलों को छूती 'कलंक'

  • Updated on 4/17/2019
  • Author : Alka Jaiswal

स्टारकास्ट: आलिया भट्ट, वरुण धवन, सोनाक्षी सिन्हा, आदित्य रॉय कपूर, संजय दत्त, माधुरी दीक्षित, कुणाल खेमू, कियारा आडवाणी
डायरेक्टरः अभिषेक वर्मन
रेटिंग: 3.5 स्टार/5*

नई दिल्ली/अल्का जायसवाल। इस साल की मोस्ट अवेटेड मल्टीस्टारर फिल्म 'कलंक' (Kalank) आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। समाज में पल रहे 'रस्मों-रिवाज' पर सवाल उठाती और इश्क के अलग मायने समझाती ये फिल्म एक इंटेंस लव स्टोरी है।

इस फिल्म में आलिया भट्ट (Alia Bhatt) रूप के किरदार में और वरुण धवन (Varun Dhawan) जफर के किरदार में नजर आ रहे हैं। इनके अलावा सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha), आदित्य रॉय कपूर (Aditya Roy Kapur), संजय दत्त (Sanjay Dutt), माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) और कुणाल खेमू (Kunal Khemu) भी फिल्म में अहम भूमिका निभा रहे हैं। फिल्म को अपने डायरेक्शन से सजाया है अभिषेक वर्मन (Abhishek Varman) ने। इस वीकेंड अगर आपका भी 'कलंक' देखने का प्लान है तो पहले पढ़ें ये रिव्यू।

Video: आलिया ने अपने और वरुण को लेकर खोले कई राज, कहा- अच्छा फुट मसाज देते हैं

Navodayatimes

दिलों को छूती 'कहानी' (Story of Kalank)
'कलंक' भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बंटवारे से पहले की कहानी है। ये कहानी शुरू होती है हुसैनाबाद (जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है) से जहां चौधरी परिवार सबसे समृद्ध और शक्तिशाली है। इस परिवार में हैं बलराज चौधरी (संजय दत्त), उनका बेटा देव (आदित्य रॉय कपूर) और देव की पत्नी सत्या (सोनाक्षी सिन्हा)। बलराज और देव मिलकर एक अखबार चलाते हैं जिसका नाम है 'डेली न्यूज'। सत्या को कैंसर की बीमारी होती है जिसके कारण डॉक्टर उन्हें बताता है कि उनकी जिंदगी बहुत ही कम बची है। उनकी मौत के बाद देव की जिंदगी संभल जाए इसके लिए सत्या देव की दूसरी शादी कराने का फैसला लेती है। रूप को कुछ मजबूरी के कारण देव से शादी तो कर लेती है लेकिन दोनों एक दूसरे से प्यार नहीं करते। रूप शादी के बाद संगीत सीखने के लिए बहार बेगम (माधुरी दीक्षित) के पास जाती है जहां उसकी मुलाकात जफर से होती है।  कुछ मुलाकातों के बाद दोनों के बीच प्यार पनपने लगता है और यहीं से कहानी में आने शुरू होते हैं कई ट्विस्ट जिसके बाद सभी की जिंदगियां नया मोड़ लेने लगती हैं। फिल्म अपने दर्शकों के लिए आखिर में एक सवाल भी छोड़ जाती है कि आखिर ये 'कलंक' है या 'इश्क' जिसका फैसला फिल्म देखने के बाद आपको करना होगा।

9 सालों में पहली बार वरुण ने बताई आलिया और अपने रिश्ते की सच्चाई, भावुक हुआ माहौल

Navodayatimes

फिल्म में जान डालती 'एक्टिंग' (Acting)
फिल्म में हर किसी ने अपने किरदार को पूरी तरह से जिया है। आलिया ने रूप के किरदार से एक बार फिर अपनी एक्टिंग का लोहा मनवा दिया है। वरुण की बात करें तो वो ना सिर्फ अपनी टोन्ड बॉडी से लोगों को इम्प्रेस करते हुए नजर आए हैं बल्कि पूरे पर्फेक्शन और इमोशन के साथ उन्होंने जफर के किरदार में जान डाल दी है। लंबे समय के बाद पर्दे पर दिखे आदित्य रॉय कपूर की एक्टिंग भी काबिले तारीफ है। सोनाक्षी ने एक बार फिर दमदार किरदार निभाकर दर्शकों को इंप्रेस कर दिया है। इनके अलावा माधुरी दीक्षित और संजय दत्त ने पच्चीस साल बाद बड़े पर्दे पर एक साथ वापसी की है और दोनों साथ में बहुत जंचे हैं। कुणाल खेमू की बात करें तो उन्होंने अपने किरदार को बखूबी निभाया है। इस फिल्म में कियारा आडवानी (Kiara Advani) का भी छोटा सा किरदार है जिसके कारण उन्हें ज्यादा काम दिखाने के लिए स्पेस नहीं मिल पाई है। किरदारों के बीच की कमेस्ट्री भी बहुत ही उम्दा है।

'कलंक' के सेट पर संजय के बच्चों से कुछ ऐसे मिलीं माधुरी दीक्षित

 Navodayatimes

लाजवाब 'डायरेक्शन' (Direction)
अभिषेक वर्मन ने फिल्म का डायरेक्शन बहुत ही शानदार तरीके से किया है। फिल्म इतनी खूबसूरती से कही गई है कि थोड़ी लंबी होने के बावजूद ये दर्शकों को बांधने में पूरी तरह से कामयाब होती है।

Navodayatimes

खूबसूरत 'डायलॉग' (Kalank Dialogue)
फिल्म के ट्रेलर रिलीज होते ही इसके डायलॉग सबसे ज्यादा चर्चा में रहे। जो डायलॉग्स सबसे ज्यादा पॉपुलर हुए वो थे...

कुछ रिश्ते कर्जों की तरह होते हैं, उन्हें निभाना नहीं चुकाना पड़ता है...

जब किसी और की बर्बादी अपनी जीत जैसी लगे, तो हमसे ज्यादा बर्बाद और कोई नहीं है इस दुनिया में...

ये कहना गलत नहीं होगा कि इसके डायलॉग्स इसकी सबसे बड़ी खूबसूरती हैं। फिल्म में कुछ ऐसे डायलॉग हैं जो आपके दिलों को छूने के साथ-साथ लंबे समय तक आपके दिमाग में भी रह जाएंगे।

Navodayatimes

कॉम्प्लीमेंटरी 'म्यूजिक' (Kalank Music)
फिल्म का म्यूजिक इसकी स्टोरी को कॉम्प्लीमेंट करता है। इस फिल्म का टाइटल ट्रैक (Kalank Title Track) और घर मोरे परदेसिया (Ghar More Pardesiya) पहले ही लोगों की जुबां पर छाया हुआ है। बैकग्राउंड स्कोर (Background Score) की बात करें तो वो इस फिल्म में चार चांद लगाता है।

Navodayatimes

क्यों देखें (Kalank Positive Points)
1. फिल्म के सेट (Kalank Shooting Sets) से लेकर कॉस्ट्यूम डिजाइनिंग (Kalank Costume Designing) तक पर बहुत ही बारीकी से काम किया गया है जो काबिले तारीफ है।

2. अगर आपको इंटेंस लव स्टोरी (Intense Love Story) पसंद है तो ये फिल्म आपके लिए है।

3. अगर आप पीरियड ड्रामा (Period Drama) देखना पसंद करते हैं तो ये फिल्म आपको वो फील देने में कामयाब रहेगी।

Navodayatimes

क्यों ना देखें (Kalank Negative Points)
1. अगर आपको स्लो मूवी पसंद नहीं है तो ये फिल्म थोड़ी देर के लिए आपको बोर कर सकती है।

2. अगर आप लंबी मूवी देखने से बचते हैं तो हम आपको बता दें ये फिल्म 2 घंटे और 48 मिनट की है।

3. अगर आपको पीरियड ड्रामा पसंद नहीं है तो ये फिल्म आपके लिए नहीं है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.