Friday, Jul 23, 2021
-->
kangana ranaut asks for rs 2 crore compensation from shiv sena ruled bmc rkdsnt

कंगना द्वारा 2 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग पर शिवसेना शासित BMC में खलबली

  • Updated on 9/15/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने अपने बंगले में की गई कथित ‘‘अवैध‘’ तोडफ़ोड़ के लिए बृह्नमुंबई महानगर पालिका (BMC) से दो करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग के वास्ते बंबई उच्च न्यायालय के समक्ष अपनी याचिका में संशोधन किया है। इसके साथ ही शिवसेना शासित बीेएमसी में खलबली मच गई है। अब कंगना को अवैध निर्माण पर घेरने के लिए रणनीतियां तैयार की जा रही है। 

दिल्ली विधानसभा समिति ने फेसबुक को जारी किया ‘अंतिम नोटिस’, चेताया

बता दें कि उपनगरीय इलाके बांद्रा स्थित रनौत के बंगले में बीएमसी ने गत 9 सितंबर को कथित अवैध निर्माण को तोड़ा था, जिसके खिलाफ अभिनेत्री ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। तब जस्टिस एसजे कठवल्ला की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने बीएमसी की कार्रवाई पर यह कहते हुए रोक लगा दी थी कि यह ‘‘दुर्भावनापूर्ण‘’ प्रतीत होती है। रनौत ने अपनी संशोधित याचिका में आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ की गई उनकी टिप्पणियों के परिणामस्वरूप बीएमसी ने तोड़फोड़ की कार्रवाई का फैसला किया। 

सुशांत मामले में कोर्ट का मीडिया रिपोर्टिंग को लेकर दायर याचिक पर केंद्र को नोटिस

इसके मुताबिक, हाल ही में अभिनेत्री की महाराष्ट्र सरकार से तनातनी चल रही थी क्योंकि उन्होंने राज्य सरकार से संबंधित कुछ मुद्दों से निपटने को लेकर की गई कार्रवाई पर अपने विचार व्यक्त किए थे, जिनका आम जनता पर प्रभाव पड़ता है। संशोधित याचिका के मुताबिक,‘’उनके विचारों ने कुछ खास पक्षों को नाखुश किया और एक विशेष राजनीतिक दल की नाराजगी का कारण बना जोकि महाराष्ट्र सरकार का हिस्सा है।‘‘ 

सुदर्शन टीवी के विवादास्पद कार्यक्रम पर सुप्रीम कोर्ट ने की सख्त टिप्पणी

इसके मुताबिक, ‘‘यही दल‘’ बीएमसी में भी सत्तारूढ़ है। हालांकि, इसमें शिवसेना का नाम नहीं लिया गया। याचिका में यह भी दलील दी गई कि रनौत ने बंगले में ढांचागत मरम्मत के लिए बीएमसी से अनुमति मांगी थी और वर्ष 2018 में यह अनुमति प्रदान भी की गई थी। याचिका में अदालत से बीएमसी की कार्रवाई को अवैध घोषित करने और‘‘संबंधित अधिकारियों‘’से नुकसान की भरपाई के बतौर दो करोड़ रुपये का मुआवजा देने का अनुरोध किया गया है।

राजनाथ बोले- लद्दाख में तनाव के बीच संप्रभुता की रक्षा के लिए मुस्तैद हैं सशस्त्र बल

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

सुशांत मौत मामले में CBI ने दर्ज की FIR, रिया के नाम का भी जिक्र

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.