Saturday, Jan 22, 2022
-->
kanhaiya kumar cpim on budget 2021 modi bjp govt running shop for sale rkdsnt

बजट 2021 पर कन्हैया कुमार का तंज- पता नहीं सरकार चला रहें हैं कि हरेक माल की दुकान!

  • Updated on 2/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र की मोदी सरकार के बजट 2021 को लेकर विपक्ष काफी खफा है। वाम दलों ने भी बजट की आलोचना की है। वहीं वामदल के नेता कन्हैया कुमार ने भी बजट पर तंज भरी प्रतिक्रिया जाहिर की है। अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, 'बज़ट ऐसा पेश किया है कि मानो देश में बिकवाली का ‘बम्पर मेगा सेल ऑफ़र’ चल रहा हो ! पता नहीं सरकार चला रहें हैं कि हरेक माल की दुक़ान !!'

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बजट 2021 को लेकर मोदी सरकार को दी नसीहत

केंद्रीय बजट में गरीबों के लिए कुछ नहीं है : भाकपा 
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने सोमवार को केंद्रीय बजट की आलोचना करते हुए दावा किया कि यह कॉरपोरेट जगत और बड़े उद्यमियों के लिए है और इसमें गरीबों के लिए कुछ भी नहीं है। पार्टी के महासचिव डी. राजा ने कहा कि बजट में कृषि, बीमा क्षेत्र और ‘हर चीज’ को प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के लिए खोल दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस ‘‘जन विरोधी’’ बजट को करारा जवाब मिलेगा। 

Budget 2021 : राहुल बोले- मोदी सरकार अपने उद्योगपति दोस्तों को सौंपना चाहती है देश की संपत्ति

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह बजट मोदी सरकार द्वारा जारी आक्रामक, कॉरपोरेट समर्थक आॢथक नीतियों का सिलसिला है। यह कॉरपोरेट समर्थक, बड़े उद्यमियों के लिए बजट है। यह अंतरराष्ट्रीय वित्तीय पूंजी एफडीआई का समर्थक है। इसलिए इस बजट में गरीबों, दिक्कतों का सामना कर रहे जनमानस के लिए कुछ भी नहीं है।’’  

ममता बनर्जी बोलीं- भाजपा गैस का गुब्बारा है, जो सिर्फ मीडिया में ही जिंदा है

पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में हिस्सा लेने महानगर आए भाकपा नेता ने कहा कि बजट में कृषि, बीमा क्षेत्र और हर चीज को एफडीआई के लिए खोल दिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए बजट कॉरपोरेट समर्थक और गरीब विरोधी है।’’ राजा ने कहा कि देश में जब ‘बेरोजगारी’ ‘अभूतपूर्व’ स्तर पर है तो बजट ने युवाओं को निराश किया है। 

बजट 2021: चुनाव आयोग को EVM की खरीद के लिए मिलेगा कोष, कानून मंत्रालय को मिलेंगे...

उन्होंने कहा, ‘‘हम केन्द्र सरकार पर सांप्रदायिक, कॉरपोरेट समर्थक, फासीवादी होने का आरोप लगाते हैं जिससे हमें लडऩे की जरूरत है। इस बजट ने इस बात को स्पष्ट कर दिया है...इस तरह की कठिन महामारी वाली स्थिति में भी सरकार ने गरीब लोगों की चिंता नहीं की और इस जनविरोधी बजट के खिलाफ लोगों को एकजुट कर हम करारा जवाब देंगे।’’

मोदी सरकार के बजट 2021 को लेकर घोर निराश नजर आए पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.