Friday, May 29, 2020

Live Updates: 66th day of lockdown

Last Updated: Fri May 29 2020 10:54 AM

corona virus

Total Cases

165,729

Recovered

70,920

Deaths

4,711

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA59,546
  • TAMIL NADU19,372
  • NEW DELHI16,281
  • GUJARAT15,572
  • RAJASTHAN8,067
  • MADHYA PRADESH7,453
  • UTTAR PRADESH7,170
  • WEST BENGAL4,536
  • ANDHRA PRADESH3,245
  • BIHAR3,185
  • KARNATAKA2,533
  • TELANGANA2,256
  • PUNJAB2,158
  • JAMMU & KASHMIR2,036
  • ODISHA1,660
  • HARYANA1,504
  • KERALA1,089
  • ASSAM881
  • UTTARAKHAND500
  • JHARKHAND470
  • CHHATTISGARH398
  • CHANDIGARH289
  • HIMACHAL PRADESH281
  • TRIPURA244
  • GOA69
  • MANIPUR55
  • PUDUCHERRY53
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA21
  • NAGALAND18
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
kanhaiya kumar cpim taunt on up bjp modi govt says they cares about paper than humans rkdsnt

कन्हैया का भाजपा सरकार पर तंज, बोले- इनको इंसानों से ज्यादा 'कागज' की परवाह

  • Updated on 5/20/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जेएनयू छात्र संगठन के पूर्व नेता कन्हैया कुमार ने फिर से इशारों-इशारों में केंद्र की मोदी और यूपी की योगी सरकार पर तंज कसा है। सीपीआईएम के नेता कन्हैया ने कहा है कि सरकार को इंसानों से ज्यादा कागज की ज्यादा चिंता रहती है। बता दें कि इससे पहले सीएए, एनआरसी और एनपीआर मुद्दे पर लोगों से नागरिता के लिए कागज दिखाने की मांग की गई थी और अब यूपी में बसों के लिए कागज को लेकर मजदूरों की समस्या को और टालने का प्रयास हो रहा है। 

मजदूरों को बिना देर, बिना शर्त और बिना खर्च घर पहुंचाए सरकार : योगेंद्र यादव

मजदूरों के लिए बसों को लेकर प्रियंका गांधी ने फिर साधा योगी सरकार पर निशाना

सरकारों की नीतियों पर सवाल उठाने वाले कन्हैया कुमार इन दिनों लॉकडाउन की वजह कम ही नजर आ रहे हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर जरुर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। अपने ताजा ट्वीट में वह लिखते हैं, 'समस्या चाहे जो भी हो, हर बार इस सरकार ने  ये साबित किया है कि इनको इंसानों से ज्यादा 'कागज़' की परवाह है।'

कांग्रेस नेता को मालिनी अवस्थी ने चेतावनी, बोलीं- मेरे पति की मिसाल देता है पूरा यूपी

इससे पहले उन्होंने मजदूरों के मुद्दे पर एक ट्वीट किया था, 'जब सरकार को यही नहीं मालूम है कि किस राज्य के कितने मजदूर कहाँ काम करते हैं तो फिर उनके कल्याण के लिए की गई घोषणा की हकीकत क्या होने वाली है, इसका अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं। सरकार से सिर्फ इतना भर पूछ लें कि देश में मजदूरों की संख्या क्या है? तो भी आपको देशद्रोही कहा जा सकता है!'

AAP सांसद संजय सिंह बोले- मजदूरों के लिए डंडा राज में बदला BJP राज

अर्णब गोस्वामी को सुप्रीम कोर्ट ने दिया करारा झटका, उमर-प्रशांत ने जताई खुशी

हैरानी की बात यह है कि केंद्र की मोदी सरकार ने हाल ही में 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया था। इसको लेकर केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने पांच दिनों तक लंबी प्रेस वार्ताएं कीं, लेकिन मजदूरों की समस्या का समाधान अभी भी नहीं निकल पाया है। रेल, बसें भले ही खोल दी गई हों, लेकिन मजदूरों को पहुंचाने के लिए सरकारों ने कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं की है। अभी भी लोग तपती धूप में सड़कों पर मीलों पैदल चल रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.